आस्था का केन्द्र शंभू की मंडी महादेव :इस प्राचीन स्थान के कुंड भीषण गर्मी में भी लबालब, आप भी पढ़ें महादेव का चमत्कार

pankaj joshi | Publish: May, 13 2019 03:01:25 PM (IST) Bundi, Bundi, Rajasthan, India

बूंदी-लाखेरी रोड पर डांगाहेडी चौराहा से पांच किमी की दूरी पर स्थित जंगलों में शंभू की मंडी महादेव का दरबार आस्था का केन्द्र बना हुआ है।

नोताड़ा. बूंदी-लाखेरी रोड पर डांगाहेडी चौराहा से पांच किमी की दूरी पर स्थित जंगलों में शंभू की मंडी महादेव का दरबार आस्था का केन्द्र बना हुआ है। यहां हर चौदस, अमावस्या पर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। एक ओर इस वक्ïत प्रदेश में कई जगह लोग भीषण जल संकट से परेशान हैं, वही यहां महादेव के कुंड में प्रचण्ड गर्मी के मौसम में भी पानी भरा रहना लोग चमत्कार मानते हैं।
250 वर्ष पूर्व हुआ था स्थापित
यह स्थान 200 से 250 वर्ष पुराना बताया जा रहा है। रेबारपुरा निवासी 65 वर्षीय मूलचन्द रैबारी ने बताया कि यह स्थान 250 वर्ष पुराना है। स्थापना वीरभान रैबारी ने करवाई थी। यहां से 5 किमी की दूरी पर अरावली पर्वतमाला अभी भी धूनी व चिमटा लगा हुआ है। उन्होंने बताया कि पूर्वजों के अनुसार वीरभान रैबारी के सपने में आकर भोले नाथ के द्वारा यहां पर स्थापित करने के लिए कहा गया था। इसके बाद उन्होंने यहां स्थापना करवाकर छतरी का निर्माण करवाया था।
गर्मी में भी नहीं सूखता पानी
यहां की एक विशेष मान्यता यह भी बताई जाती है कि यहां जो कुंड बना हुआ है। उसका पानी कभी भी नहीं सूखता है। जब अकाल पड़ा था तब कुओं और बावडिय़ों मे भी पानी सूख गया था, लेकिन इस कुंड में पानी भरा रहा।
बीमारियां होती है दूर
यहां पर बने कुंड में स्नान करने से लोगों के खाज, खुजली, दाद, फोड़े फुंसी, मस्सा जैसी बीमारियां दूर होती है और लोग जो भी मनोकामना लेकर आते हैं वह जरूर पूरी होती है।
यह है प्रतिबन्धित
यहां पर कोई सुरक्षा, समिति नहीं होने के बाद भी अपने आप नियमों का पालन करते हैं। यहां पर लोग बिना साबुन लगाए स्नान करते हैं चप्पल पहनकर प्रवेश नहीं करते हैं। श्रद्धालु बताते है कि बहुत अच्छा स्थान है, लेकिन यहां पर डांगाहेडी से सडक़ निर्माण होना चाहिए। धर्मशाला का निर्माण होना चाहिए ताकि बारिश के दिनों में परेशानी न हो यह सुविधा हो जाती है तो श्रद्धालुओं को आसानी रहेगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned