Big News कृषि वैज्ञानिकों ने बूंदी के किसानों को यह बताया नवाचार, आय दोगुनी होगी

श्योपुरिया की बावड़ी कृषि विज्ञान केंद्र में हुई वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक

By: Nagesh Sharma

Updated: 04 Oct 2021, 06:40 PM IST

बूंदी. बूंदी के कृषि विज्ञान केंद्र में सोमवार को 28 वीं वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक हुई। बैठक में केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष प्रो. हरीश वर्मा ने विगत बैठक के सुझावो पर की गई कार्यवाही का अनुमोदन कर वार्षिक कार्य योजना पर चर्चा कर सुझाव मांगे।

इस दौरान पशुपालन वैज्ञानिक डॉ. घनश्याम मीणा, डॉ. कमला महाजनी गृह वैज्ञानिक एवं इंदिरा यादव उद्यान वैज्ञानिक ने अपने विषयों से संबंधित वार्षिक प्रगति प्रतिवेदन भी प्रस्तुत किया। बैठक का आयोजन ऑनलाईन भी किया।
समापन कार्यक्रम में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कृषि विश्वविद्यालय, कोटा के कुलपति प्रो. डी.सी. जोशी एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता निदेशक डॉ. एस. के. जैन ने की।
कुलपति ने सम्बोधित करते हुए बताया कि नवाचार कार्य को किसानों के बीच पहुंचाकर कृषकों की समस्या का निराकरण कर लागत कम कर उत्पादन बढ़ाने पर बल दिया जाए। इस कार्य को कुछ गांव या ब्लॉक स्तर पर करके दिखाया जाये। नई फसलों के उत्पदन लेने के साथ ही अन्य पूरक व्यवसाय जोडकऱ आय बढ़ाने पर जोर दिया जाये। जिले में सब्जी उत्पादन पर अच्छा कार्य किया जा सकता है। केन्द्र पर सभी विषयों की आधुनिक मॉडल इकाई बनाकर तकनीकी एवं गुणवत्ता पर जोर दिया जाए। कृषि से संबंधित हो रहे बदलाव की जानकारी एकत्रित कर स्थिति रिपोर्ट तैयार की जाए। उसी के आधार पर व्यवसाय दृष्टिकोण रखते हुए कृषि को बढ़ावा दिया जाए। कृषि विज्ञान केन्द्र की विभिन्न इकाइयों पर किसानों के लिये नई तकनीकों का प्रदर्शन किया जाए। ग्रामीण महिलाओं को पोषक तत्व की उपलब्धता के लिए वर्षभर न्यूट्री गार्डन लगाने के लिए प्रेरित किया जाए। इसके अलावा एक जिला एक उत्पाद को बढ़ावा देने के लिए किसानों के खेत पर इकाई की स्थापना कर मूल्य संवर्धन के लिए प्रोत्साहित किया जाए। किसानों की आय बढ़ाने के लिए खाद्य फसलों के अलावा बागवानी, डेयरी एवं मूल्य संवर्धन जैसे पूरक व्यवसाय को बढ़ावा दिया जाए। सब्जियों की पैदावार बढ़ाने के लिए अधिक आय देने वाली सब्जियों के उत्पादन को बढ़ावा दिया जाए।
निदेशक डॉ. एस. के. जैन प्रसार शिक्षा ने बताया कि केन्द्र द्वारा सभी संबंधित विभागों के साथ तालतेल कर अच्छा कार्य किया जा रहा है लेकिन इसको और अधिक श्रेष्ठ करने की आवश्यकता है। केन्द्र पर स्थापित इकाईयों से राजस्व बढ़ाने पर विचार किया जाए। कृषकों के बीच केन्द्र की विश्वसनीयता बनाये रखने के लिए नर्सरी में फलदार पौधों की अच्छी किस्म तैयार की जाए। सब्जी उत्कृष्टता केन्द्र के सहयोग से जिले में हाइटेक सब्जी उत्पादन को बढ़ावा देने पर जोर दिया जाये।
सहायक निदेशक कृषि विस्तार राजेश शर्मा ने बताया कि केन्द्र का हर समय अच्छा सहयोग मिलता रहा है। जिले में सोयाबीन की लगातार घट रही क्षेत्रफल एवं उत्पादकता के कारणों का विश्लेषण करने के बारे में सुझाव दिया।उपनिदेशक एटीसी फार्म सुभाष चन्द्र शर्मा, ने केन्द्र पर जैविक खेती में समन्वित प्रबन्धन तकनीकों को बढ़ावा देने के लिए ट्राइकोग्रामाकार्ड एवं ट्राइकोडरमा देने के लिए सुझाव दिया।
कृषि अधिकारी आत्मा सुरेश कुमार मीणा ने केन्द्र द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाने में पूर्ण सहयोग किया जा रहा है। केन्द्र पर शस्य वैज्ञानिक लगाने की आवश्यकता पर जोर दिया। उपनिदेशक सब्जी उत्कृष्टता केन्द्र दुर्गालाल मौर्य, ने बताया कि केन्द्र द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रमों में सहयोग मिल रहा है। केन्द्र पर जैविक खेती इकाई स्थापित की जावे एवं फूलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रदर्शन इकाई भी लगाई जाये। बीजू पौधों के उत्पादन कम कर ग्राफ्टेड पौधे तैयार करने पर जोर दिया जाये।
नाबार्ड के जिला महाप्रबन्धक राजकुमार ने केन्द्र पर उपस्थित विभिन्न इकाईयों की लागत उपलब्ध कराई जाये जिससे किसानों को ऋण आसानी से दिया जा सके। बून्दी जिले के किसानों के लिए समन्वित कृषि प्रणाली मॉडल बनाकर उपलब्ध कराया जाये। केन्द्र की वेबसाईट पर आंकड़ों का समय-समय पर अपडेशन किया जाये। केन्द्र द्वारा आयोजित प्रशिक्षण के दौरान बैंक अधिकारियों के व्याख्यान करवाये जावे।
कार्यक्रम के के दौरान केन्द्र के वैज्ञानिकों द्वारा तैयार मुर्गीपालन पुस्तक का विमोचन कुलपति किया एवं उनके द्वारा केन्द्र पर नवस्थापित मूल्य संवर्धन एवं प्रसंस्करण इकाई का उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ कमला महाजनी गृह वैज्ञानिक ने किया।
कार्यक्रम के दौरान डॉ हेमराज जाट वरिष्ठ तकनीकी सहायक, महेन्द्र चौधरी फार्म मेनेजर, दीपक कुमार वरिष्ठ अध्येता अनुसंधान, लोकेश प्रजापत एवं रामप्रसाद गुर्जर मौजूद रहे।

Nagesh Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned