अक्षय तृतीया पर कृषि उपकरणों की पूजा अर्चना, लेन देन का किया हिसाब

pankaj joshi | Publish: May, 07 2019 01:03:55 PM (IST) Bundi, Bundi, Rajasthan, India

कस्बे में मंगलवार को अक्षय तृतीया के अवसर पर किसानों ने सुबह सूरज निकलने से पहले ही खेतों पर पहुंचकर शुभ मुहुर्त में कृषि उपकरणों की पूजा अर्चना की।

नोताड़ा. कस्बे में मंगलवार को अक्षय तृतीया के अवसर पर किसानों ने सुबह सूरज निकलने से पहले ही खेतों पर पहुंचकर शुभ मुहुर्त में कृषि उपकरणों की पूजा अर्चना की। इस दौरान किसान अपने साथ सात अनाज व खेजड़ी का डंठल लेकर गए ओर उसको अपने खेतों के बीच में रखकर अपने खेत व कृषि कार्यों का पूजन कर आगामी वर्ष में अच्छी फसल के पैदावार की कामना की।
दीवारों पर उकेरे कृषि कार्यों व फसलों के चित्र
अक्षय तृतीया के अवसर पर किसानों ने मकानों के बाहर कृषि कार्य से जुड़े हल, कुली, व फसलो मे ज्वार बाजरा के चित्र उकेरे गये।
यह बनता है आज किसानों के घर भोजन
आज के दिन किसानों के घर पर लापसी, व मुंग की दाल ओर पराठे का भोजन बनाकर आराध्य देवो के भोग लगाकर अपने कृषि कार्यों में वर्षभर काम करने वाले मजदूरों को भोजन करवाया जाता है।
लेन देन के लिए विशेष
ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी लेन देन के कार्य के लिए अक्षय तृतीया का दिन महत्वपूर्ण है। किसान अपनी आवश्यकता के लिए किसी से कर्ज लेता है। उसकी भी आज के दिन की ही कोल रहती है। वर्ष भर काम करने वाले मजदूरों को भी लेन देन किया जाता है।
आज के दिन का अबुझ सावा
लोग हर कार्यो को करने के लिए मुहुर्त निकालकर करते हैं। लेकिन आज का दिन ऐसा दिन है जिसमे मुहुर्त कि जरुरत नहीं होती है। आज का दिन विवाह करने के लिए भी शुभ माना जाता है अक्षय तृतीया के दिन विवाह करने वालो के लिए मुहुर्त निकलवाने कि जरुरत नही होती

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned