अंडरपास में भरा पानी, किसानों को झेलनी पड़ रही परेशानी

कोटा-चित्तौड़ रेलवे लाइन पर रेलवे अंडरपास में पानी भर जाने से किसानों को खेतों में जाने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार रेलवे गेट संख्या 39 बन्द करने के बाद इटोड़ा गांव से रेलवे लाइन से दूसरी तरफ जाने के लिए रेलवे प्रशासन ने अंडरपास का निर्माण करवाया था।

By: pankaj joshi

Published: 07 Jul 2019, 09:04 PM IST

रामगंजबालाजी. कोटा-चित्तौड़ रेलवे लाइन पर रेलवे अंडरपास में पानी भर जाने से किसानों को खेतों में जाने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार रेलवे गेट संख्या 39 बन्द करने के बाद इटोड़ा गांव से रेलवे लाइन से दूसरी तरफ जाने के लिए रेलवे प्रशासन ने अंडरपास का निर्माण करवाया था। लेकिन निर्माण कार्य मे रही खामियां किसानों के लिए जी का जंजाल बन गयी। यहां बरसात होते ही रेलवे लाइन से दूसरी छोर के किसानों की 200 बीघा से अधिक भूमि में जाने आने का रास्ता बंद हो जाता है। पिछले चार पांच बरसों से लगातार अंडरपास में पानी भरने की समस्या अब तक जारी है। किसानों दयाराम गुर्जर, शिवराज सिंह, बद्रीलाल मेघवाल, हेमराज गुर्जर, उदालाल मीणा ने बताया कि कई बार रेलवे प्रशासन को अंडरपास की पानी निकासी के लिए कहा गया। लेकिन सुनवाई नहीं होने से किसानों को मजबूरन पानी मे होकर ट्रैक्टर निकालने पड़ रहे हैं। किसानों ने चेतावनी दी है यदि इस वर्ष बरसात के सीजन में पानी निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होने पर आंदोलन की राह पकडऩी पड़ेगी।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned