3 दिन लगाया डॉक्टर, फिर भगवान भरोसे छोड़े ग्रामीण

नमाना. कस्बे में लगातार कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या में इजाफा होने के बाद भी जिला चिकित्सा विभाग कतई गंभीर नहीं है।

By: pankaj joshi

Published: 05 Sep 2020, 08:37 PM IST

3 दिन लगाया डॉक्टर, फिर भगवान भरोसे छोड़े ग्रामीण
नमाना आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का मामला
नमाना. कस्बे में लगातार कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या में इजाफा होने के बाद भी जिला चिकित्सा विभाग कतई गंभीर नहीं है। यहां पिछले 1 माह से चिकित्सक का पद रिक्त चल रहा है। उसके बाद चिकित्सा विभाग ने पिछले 3 दिनों पहले बरूंधन अस्पताल के एक चिकित्सक को नमाना आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लगा दिया, लेकिन 3 दिनों बाद ही उसे वापस हटा लिया गया। अब चिकित्सक का पद वापस रिक्त हो गया है, जबकि इस अस्पताल में उपचार कराने के लिए क्षेत्र के 50 गांव के लोग आते हैं, लेकिन चिकित्सक नहीं होने के चलते उन्हें बूंदी या कोटा उपचार कराने के लिए जाना पड़ रहा है। गुरुवार को पंचायत कार्यालय पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार ने जिले के अधिकारियों की बैठक के दौरान भी ग्रामीणों ने अस्पताल में चिकित्सक नहीं होने की बात कही थी। जिस पर प्रतिहार ने शुक्रवार को चिकित्सक लगाने की बात कही थी, लेकिन कोई चिकित्सक नहीं लगाया गया। बीते 20 दिनों में नमाना मुख्यालय में 4 दर्जन से अधिक कोरोना पॉजिटिव रोगियों की पुष्टि हो चुकी है। वहीं इस पर से दो लोगों की मौत हो चुकी है।
आयुष चिकित्सक के भरोसे नमाना क्षेत्र के रोगी
अस्पताल में एक आयुष चिकित्सक के भरोसे ही नमाना क्षेत्र के रोगी अपना उपचार करा रहे हैं, लेकिन एलोपैथिक उपचार नहीं होने से ग्रामीणों में रोष है। अस्पताल में उपचार कराने आने वाले रोगियों को आयुष चिकित्सक से उपचार कराना पड़ रहा है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned