आधार बनाने के लिए नहीं पर्याप्त संसाधन, बढ़ रही पेंडेंसी

आवेदन आज और आवेदकों को आधार कार्ड बनाने की तारीख दे रहे अगले तीन माह बाद की। आवेदन इतने आ चुके की आधार बनने के लिए तीन माह तक इंतजार करना होगा।

By: Narendra Agarwal

Published: 16 Dec 2020, 10:41 AM IST

नैनवां . आवेदन आज और आवेदकों को आधार कार्ड बनाने की तारीख दे रहे अगले तीन माह बाद की। आवेदन इतने आ चुके की आधार बनने के लिए तीन माह तक इंतजार करना होगा। सूचना एवं प्रौद्योगिकी संचार विभाग द्वारा नैनवां तहसील के 191 गांवों पर आधार कार्ड बनाने के लिए दो ही मशीनें लगा रखी है इनमें से भी एक मशीन खराब पड़ी है।
विभाग द्वारा आधार कार्ड बनाने के लिए नैनवां पंचायत समिति के राजीव गांधी सेवा केन्द्र के ई-मित्र व डाकघर में एक-एक मशीन की व्यवस्था कर रखी है। डाकघर पर स्थापित मशीन तो कुछ दिनों से खराब पड़ी है। एक मशीन से प्रतिदिन पचास से ज्यादा आधार नही बन पाते। जबकि दोनों केन्द्रों पर प्रतिदिन तीन से चार सौ लोग आधार कार्ड बनाने के आवेदन आ रहे है। दोनों ही केन्द्रों पर आधार कार्ड बनाने के लिए प्राप्त हुए हजारों आवेदनों के ढेर लगे हुए है। सोमवार तक पंचायत समिति के केन्द्र तीन हजार से अधिक व डाकघर में डेढ हजार से अधिक आवेदन पेंडिंग हो चुके है।

परेशान ग्रामीण बोले
प्रतिदिन सुबह दस बजते ही आधार कार्ड बनवाने के लिए ग्रामीणों का नैनवां पंचायत समिति परिसर में मेला लग जाता है। जिनमें बच्चों की संख्या अधिक होती है। सोमवार को भी मेला लगा हुआ था जिनमें नौनिहालों की संख्या अधिक थी। जानकारों ने बताया कि हर दिन इसी तरह मेला लगा रहता है। एक ही मशीन होने से व उस पर पचास से ज्यादा आवेदन लोड नही हो पाने से गिनती के ही आवेदन लेकर और लोगों को वापस भेज दिया जाता है। दुगारी गांव से आए कल्याण, बालापुरा के अकबर, देई के महावीर, भागचंद, विनोदकुमार, चौथमल ने बताया कि आधार के लिए बच्चों को लेकर चार बार आ चुके है। आज भी कोई गारंटी नही है कि आवेदन ले लिया जाएगा।

पंचायत मुख्यालय पर ही बने आधार
राष्ट्रीय किसान परिषद के जिलाध्यक्ष रामावतार डोई, संभागीय संगठन मंत्री विजय मीणा, तहसील अध्यक्ष राकेश कुमार मीणा, किसान महापंचायत के जिलाध्यक्ष तुलसीराम, महामंत्री कजोडमल धाकड़, तहसील अध्यक्ष भरतराज मीणा ने तहसीलदार को ज्ञापन देकर प्रत्येक पंचायत मुख्यालय पर आधार कार्ड बनाने की व्यवस्था करवाने की मांग की।

यह कहना है इनका
पंचायत समिति में स्थापित आधार केन्द्र के प्रभारी जाकिर मोहम्मद का कहना है कि आधार बनाने के लिए सिर्फ एक ही कम्प्युटर पर काम चलता है। कम्प्युटर से एक दिन में पचास से ज्यादा आधार नहीं बन पाते। जबकि प्रतिदिन इससे चार गुणा अधिक आवेदन आ रहे है। केन्द्र पर तीन हजार से अधिक आवेदन पंैडिंग पड़े है। आवेदनों से आलमारी भर जाने से अब आवेदनों को बोरों में रखना पड़ रहा है। आवेदन इतने पेडिंग हो चुके है कि सोमवार को आवेदन करने वालों को 26 फरवरी की तारीख दी है। नैनवा डाकघर के उपडाकपाल हंसराज मीणा ने बताया कि कुछ दिनों से आधारकार्ड बनाने वाली मशीन खराब चल रही है। यहा पर इतनी पेंडेंंंसी हो गई कि सात दिसम्बर तक के प्राप्त आवेदन वालों को आधार कार्ड के लिए आठ मार्च तक तारीख देनी पड़ी है।

प्रोग्रोम अधिकारी का कहना
सूचना एवं प्रौद्योगिकी संचार विभाग के प्रोग्राम अधिकारी श्यामसुन्दर जांगिड़ का कहना है कि नैनवां में पंचायत समिति परिसर व डाकघर में आधार बनाने के केन्द्र स्थापति है। पंचायत समिति में एक बड़ी व पांच वर्ष तक बच्चों के आधार बनाने के लिए चार टेबलेट कम्प्युटर लगा रखे है। डाकघर में भी एक कम्प्युटर पर काम चल रहा है। आधार बनाने के संसाधनों की कमी से पेंडेंसी बढ़ती जा रही है।

Show More
Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned