हादसे की बाट : ट्रांसफार्मर को सुलगा न दे यह लापरवाही

गर्मी का दौर शुरू हो गया, लेकिन शहर में लगे ट्रांसफार्मर के आस-पास की गन्दगी नहीं हटी। कई जगहों पर तो झांडिय़ों का अम्बार हो गया, ऐसे में गर्मी बढऩे के साथ ही आस-पास बसे लोगों को हादसों का भय सताने लग गया।

By: pankaj joshi

Updated: 12 Apr 2021, 09:31 PM IST

हादसे की बाट : ट्रांसफार्मर को सुलगा न दे यह लापरवाही
बूंदी. गर्मी का दौर शुरू हो गया, लेकिन शहर में लगे ट्रांसफार्मर के आस-पास की गन्दगी नहीं हटी। कई जगहों पर तो झांडिय़ों का अम्बार हो गया, ऐसे में गर्मी बढऩे के साथ ही आस-पास बसे लोगों को हादसों का भय सताने लग गया। बिजली निगम की निंद हादसों के बाद भी नहीं खुल रही। अब भीषण गर्मी में ट्रांसफार्मर से निकलने वाली चिंगारी से आस-पास झांडियों और कचरे के ढेर में आग लगने से इनकार नहीं किया जा सकता। पत्रिका टीम ने जिला मुख्यालय के हाल जाने तो ऐसे कई ट्रासफार्मर मिले जिनके आस-पास से कचरा और झांडिय़ों को हटाए मानों अर्सा बीत गया हो।
स्पार्किंग से धूं-धूं कर जला ट्रांसफार्मर
बूंदी के नाहर का चौहट्टा बुलबुल के चबूतरे के निकट लगे ट्रांसफार्मर में रविवार सुबह स्पर्किंग से आग लग गई। आग की लपटों को देखकर आस-पास के लोगों ने पहले सूचना देकर बिजली बंद करवाई। बाद में पानी की मदद से आग पर काबू पाया। यहां आस-पास के बाशिंदों ने बताया कि सूचना के बाद भी निगम के अभियंता ध्यान नहीं दे रहे।
सुधरने चाहिए हाल
बूंदी. शहर में लगे विद्युत ट्रांसफार्मरों के आसपास गंदगी के ढेर को लोगों ने सही नहीं बताया। लोगों का कहना था कि कई बार चिंगारी आने से इनमें आग लग चुकी। लंकागेट के वीरेन्द्र सिंह, सुरेन्द्र कुमार और मनोज शर्मा ने बताया कि समय रहते इन हालातों को सुधारा जाना चाहिए। बिजली निगम रख-रखाव के नाम पर घंटों बिजली कटौती करती है, लेकिन रख-रखाव ठीक से नहीं होता। गर्मी आने से पहले ट्रांसफार्मरों के आस-पास की सफाई हों। मनोज सिंह ने कहा कि आबादी के बीच में लगे ट्रांसफार्मर पर तो सुरक्षा के विशेष प्रबंध होने चाहिए।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned