बारह सूत्री मांगों को लेकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को यहां जिला कलक्ट्रेट में 12 सूत्री मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।

By: Narendra Agarwal

Updated: 10 Sep 2021, 06:12 PM IST

बूंदी. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को यहां जिला कलक्ट्रेट में 12 सूत्री मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।
चितौड़ प्रांत संगठन मंत्री हरीश शर्मा की अगुवाई में कार्यकर्ता महाविद्यालय से नारेबाजी करते हुए पैदल कलक्ट्रेट पहुंचे, जहां मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौपा। रैली के दौरान कार्यकर्ताओं ने सर्किट हाउस रोड पर जाम लगाकर विरोध जताया। इससे पहले कलक्ट्रेट में घुसने को लेकर कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी नोक झोंक भी हुई, फिर बाद में एक प्रतिनिधि मंडल ने जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि राजस्थान में शिक्षा एवं रोजगार दोनों की स्थिति ठीक नहीं, विद्यार्थियों की परेशानी को जल्द दूर किया जाए। प्रदेश में महिलाओं के साथ आए दिन अपराध हो रहे। विभाग संयोजक पंकज गुर्जर ने बताया कि राजकीय महाविद्यालय के पार्किंग स्थल पर असामाजिक तत्वों का जमावड़ा रहने लग गया, जो तुरंत प्रभाव से हटे। उन्होंने बताया कि ऐसे लोगों पर पुलिस प्रभावी कार्रवाई करें। उन्होंने बताया कि स्टैंड पर चोरी की वारदातें हो रही। कई वाहन चोरी हो गए। बाइक से पेट्रोल निकालने की घटनाएं आम हो गई। प्रदर्शन के दौरान प्रभात जैन, धर्मेंद्र चौहान, भूपेंद्र गुर्जर, भगवान गुर्जर, हेमराज सैनी, अजय शर्मा, अंबेराज सिंह, मनोज चौधरी, मंथन पंचौली, अजय शर्मा, अभिषेक लटाला आदि मौजूद थे।
यह भी रखी मांगें
राजस्थान में बेरोजगारी की समस्या को देखते हुए 5 लाख नई भर्तियां, महाविद्यालयों में 50 सीट करने, आरपीएसी की वर्तमान भर्ती में सीटों की बढोतरी एवं रिक्त सभी शिक्षकों के पदों को भरने, मुख्यमंत्री युवा सबल योजना में प्रतिमाह बेरोजगारों को 5 हजार, 10 हजार एवं 15 हजार रुपये प्रतिमाह देने, जब तक विद्यार्थी को रोजगार नहीं मिल जाए, कालीबाई भील मेधावी छात्रा योजना सहित अन्य योजनाओं में इबीसी (2.50 लाख) श्रेणी को इडब्ल्यूएस (8 लाख) के समान रखने, प्रवेश प्रकिया को ऑनलाइन करने, राजस्थान में कृषि विद्यालयों की स्थिति के अनुरूप 50 नए कृषि महाविद्यालय खोलने, छात्रवृत्ति समय पर देने, इस वर्ष छात्रसंघ चुनाव करवाने, कोरोना काल में सुविधाओं के नाम पर विद्यार्थियों से ली गई 50 फीसदी फीस वापिस लौटाने की भी मांग रखी।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned