आशा सहयोगिनी के जीवन के लिए मिले आर्थिक मदद

कर्मचारी संयुक्त महासंघ एकीकृत ने जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर कोरोना फाइटर आशा को न्याय दिलाने की मांग की।

By: pankaj joshi

Published: 07 Jul 2020, 07:34 PM IST

आशा सहयोगिनी के जीवन के लिए मिले आर्थिक मदद
कर्मचारी संयुक्त महासंघ एकीकृत ने जिला कलक्टर को सौंपा ज्ञापन
बूंदी. कर्मचारी संयुक्त महासंघ एकीकृत ने जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर कोरोना फाइटर आशा को न्याय दिलाने की मांग की।
ज्ञापन में बताया कि मई माह में कोविड सर्वे के दौरान रानीपुरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत आशा सहयोगिनी सीमा बारहठ की ड्यूटी के दौरान तबीयत बिगड़ गई। उसे उपचार के लिए बूंदी जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया, जब राहत नहीं मिली तो कोटा रैफर कर दिया। जहां एमबीएस में भर्ती कराया गया। जहां रोगी के हाथ में गेंग्रीन बताकर हाथ काटने की सलाह दी गई, लेकिन उचित देखभाल के अभाव में आशा के पति ने उसे कोटा शहर के निजी चिकित्सालय में भर्ती करवा दिया। जहां उसके हाथ का ऑपरेशन कर उसे शरीर से अलग कर दिया। वर्तमान में भी रोगी आशा की हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा। अल्प वेतन भोगी मानदेय कार्मिक होने के कारण उसके परिवारजनों पर गहरा आर्थिक संकट पैदा हो गया। ऐसे में मुख्यमंत्री सहायता कोष से आर्थिक मदद एवं महिला बाल विकास विभाग की ओर से आर्थिक पैकेज उपलब्ध करवाए। ज्ञापन देने के दौरान महासंघ एकीकृत जिलाध्यक्ष अनीस अहमद, महिला मंत्री रेखा पाराशर, प्रदेश संरक्षक रविन्द्र चतुर्वेदी, रेखा नामा, बेबी नसीम बानो, गीता शर्मा, महासंघ वरिष्ठ उपाध्यक्ष अरुण शर्मा आदि मौजूद थे।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned