scriptBundi News, Bundi Rajasthan News,bloom with flowers,farmers' faces,mel | मावठ से खिले किसानों के चेहरे, गलन बढ़ी | Patrika News

मावठ से खिले किसानों के चेहरे, गलन बढ़ी

बूंदी जिले में गुरुवार को रात तक हुई मावठ ने धूजणी छुड़ा दी। पारा लुढकऩे के बाद लोग जल्द घरों में लौट गए।

बूंदी

Published: November 19, 2021 08:23:04 pm

मावठ से खिले किसानों के चेहरे, गलन बढ़ी
कृषि उपज मंडी में भीगा जिंस
गलन बढऩे से शाम को सड़कें हुई सूनी
बूंदी. बूंदी जिले में गुरुवार को रात तक हुई मावठ ने धूजणी छुड़ा दी। पारा लुढकऩे के बाद लोग जल्द घरों में लौट गए। शाम पांच बजे करीब अंधेरा सा छाने के बाद ही बाजार बंद होने शुरू हो गए। मावठ का दौर रुक-रुककर दिनभर
जारी रहा।
बूंदी शहर में सुबह से ही बादल छाए रहे। दोपहर को बारिश का दौर शुरू हुआ जो रात साढ़े दस बजे के बाद भी जारी रहा। देर रात 9 बजे से तेज बौछारें गिरने के बाद पानी सड़कों पर बह निकला। बारिश से शहर में गलन बढ़ गई। खटकड़ कस्बे सहित क्षेत्र में रिमझिम बरसात का क्रम जारी रहा। जिससे बोई गई सरसों की फसल को फायदा हुआ। लाखेरी कस्बे व आस-पास दोपहर 3 बजे हल्की फुहारे शुरू हुई जो 2 घंटे तक जारी रही। जिन किसानों ने सिंचाई कर दी, उनकी चिंता बढ़ गई। जिन्हें सिंचाई की आवश्यकता थी, उन्हें खुशी भी हुई। नैनवां क्षेत्र में गलन बढऩे के बाद अलाव जलने शुरू हो गए। मावठ के बाद लोग गजक व रेवडिय़ा खरीदते दिखे।
केशवरायपाटन कस्बे में दोपहर 12 बजे से बूंदाबांदी शुरू हुई जो देर तक जारी रही। हिण्डोली क्षेत्र में मावठ का काश्तकारों को फायदा होगा। यहां गेहूं व सरसों की अगेती फसल की बुवाई करने वालों के चेहरे खिल गए। कापरेन कस्बे सहित क्षेत्र में मावठ से जनजीवन प्रभावित रहा। दोपहर बाद शुरू रिमझिम देर रात तक जारी रही। इंद्रगढ़ क्षेत्र में शाम को रिमझिम फुहारें पड़ी। बरड़ क्षेत्र में सुबह से बादल छाए रहे, 11 बजे से बारिश भी हुई। भण्डेड़ा में मावठ से सर्दी बढ़ गई। ग्रामीण सर्दी से बचाव करते नजर आए।
बारिश में भीगी जिंस, किसानों ने किया प्रदर्शन
देई. कृषि उपज मंडी में गुरुवार को मावठ बरसात से किसानों का जिंस भीग गया। इससे आक्रोशित किसानों ने यहां विरोध प्रदर्शन किया। किसानों ने बताया कि मंडी के प्लेटफार्म पर व्यापारियों ने कब्जा कर लिया, जिसे कोई नहीं देख रहा। किसानों को बेचने के लिए लाए उपज को बाहर खाली करना पड़ा। ऐसे में बारिश होते ही सारी मेहनत पर पानी फिर गया। किसानों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया।
मावठ से खुशी, यूरिया रुला रहा
नैनवां. मावठ की रिमझिम ने फसलों के लिए यूरिया खाद की मांग और बढ़ा दी। दोपहर से ही लगातार रिमझिम बारिश जारी रही। इससे किसानों के चेहरे खिल गए, लेकिन यूरिया की किल्लत ने चिंता में डाल दिया। किसानों ने बताया कि मावठ खेतों में अमृत बनकर बरस रही, लेकिन यूरिया नहीं मिल रहा।
बूंदी मंडी में मची अफरा-तफरी, जिंस भीगी
रामगंजबालाजी. कुंवारती स्थित बूंदी की कृषि उपज मंडी में बारिश से जिंस भीग गया। यहां बड़ी मात्रा में प्लेट फार्म पर जिंस के ढेर लगे हुए थे, तभी मावठ का दौर शुरू हो गया। नीलामी के कुछ देर बाद ही बरसात शुरू हो गई। बोरियां बरसात में भीगने से लदान में परेशानी का सामना करना पड़ा।

मावठ से खिले किसानों के चेहरे, गलन बढ़ी
मावठ से खिले किसानों के चेहरे, गलन बढ़ी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइन 4 तारीखों में जन्मी लड़कियां पति की चमका देती हैं किस्मत, होती है बेहद लकी“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहकम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Delhi: गैंगरेप के बाद युवती के काटे बाल, चेहरे पर कालिख पोत कर गलियों में घुमाया, जानिए क्या बोले सीएमराहुल गांधी ने फॉलोवर्स सीमित होने पर Twitter पर लगाया सरकार के दबाव में काम करने का आरोप, जानिए क्या मिला जवाबहाथी ने श्रमिक को कुचला झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाBudget 2022: इस साल भी पेश होगा डिजिटल बजट, जानें कैसे होगी छपाईUP Election 2022: प्रचार करने आए भाजपा के एक और उम्मीदवार को स्थानीय लोगों ने भगायाUP Election 2022 : अखिलेश को फिर बड़ा झटका, सपा विधायक हाजी इकराम कुरैशी ने थामा कांग्रेस का दामनUP Assembly Elections 2022: PM Narendra Modi के गढ़ में BJP को घेरने में जुटी सपा सुभासपा संग TMC जानें क्या है रणनीत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.