श्वानों के हमले से बचने के लिए तलाई में कूद पड़ा

उपखंड के गंभीरी गांव में श्वानों से भयभीत होकर नीलगाय का घायल बच्चा तलाई में कूद गया। जिसे गांव के युवकों ने वन कर्मियों के सहयोग से बाहर निकालकर उसकी जान बचाई।

By: pankaj joshi

Published: 24 Oct 2020, 07:33 PM IST

श्वानों के हमले से बचने के लिए तलाई में कूद पड़ा
गांव के युवकों नेे बचाई नीलगाय के बच्चे की जान
नैनवां. उपखंड के गंभीरी गांव में श्वानों से भयभीत होकर नीलगाय का घायल बच्चा तलाई में कूद गया। जिसे गांव के युवकों ने वन कर्मियों के सहयोग से बाहर निकालकर उसकी जान बचाई। शुक्रवार सुबह गांव के बाहर नीलगाय के बच्चे पर श्वानों ने हमला कर दिया। गांव के मनराज वैष्णव, हरकेश मीना व रामवतार ढोली के श्वानों से मुक्त कराने के बाद बच्चा श्वानों के भय से पास ही स्थित तलाई में कूद गया। युवकों ने घटना की जानकारी नैनवां रेंज कार्यालय को दी तो रेंजर धीरेन्द्रसिंह चुण्डावत ने फूलेता नाका प्रभारी वनपाल विपिन शर्मा, मुकेश कुमार गंगाधर सहित अन्य वनकर्मियों को मौके पर भेजा। वन कर्मियों ने तीनों युवकों के सहयोग से बच्चे को तलाई से बाहर निकाला।
उसके शरीर पर श्वानों के हमले के घाव मिले। घायल बच्चे को पिकअप में डालकर नैनवां लेकर आए। वनपाल ने बताया कि घावों पर मरहम पट्टी करवाने के बाद फूलेता क्लोजर में छोड़ दिया।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned