नहरी पानी की मांग को लेकर सडक़ पर किसानों ने लगाया जाम

गोठड़ा बांध की मुख्य केनाल में पानी का प्रवाह हुए 25 रोज हो चुके है। अभी भी टेल की दोनो माईनरो पर पानी नही पहुंच पाया है।

pankaj joshi

February, 1501:05 PM

नहरी पानी की मांग को लेकर सडक़ पर किसानों ने लगाया जाम
भण्डेड़ा. गोठड़ा बांध की मुख्य केनाल में पानी का प्रवाह हुए 25 रोज हो चुके है। अभी भी टेल की दोनो माईनरो पर पानी नही पहुंच पाया है। पानी नही पहुंचने से आक्रोशित किसानों ने बांसी बूंदी मार्ग पर जाम लगा दिया। सडक़ पर राहगीर परेशान होते रहे किसान सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग को लेकर जाम लगाकर खड़े रहे। सुचना पाकर बांसी सरपंच मौके पर पहुंचे व किसानों से समझाईश की तब जाकर जाम हटाया गया।
जानकारी के अनुसार गोठड़ा बांध की मुख्य केनाल में दूसरे पानी का प्रवाह हुए 25 रोज हो चूका है। केनाल पर टेल क्षेत्र में बांसी माईनर है जिस में अभी भी दूसरा पानी नही पहुंच पाया है। वही मुण्डली माईनर के किसान हनुमान गुर्जर, महावीर गुर्जर, किशनलालआदि का कहना था कि विभाग के अधिकारी मौके पर आकर नहीं देख रहे किसानों की खराब हो रही फसलों को इस समय पानी की आवश्यकता हो रही है व टेल में नहर पर निर्भर किसानों की फसले बर्बाद होती जा रही है। विभाग द्वारा पानी कम गेज से प्रवाह करने से टेल की दोनो माईनर के किसानों को पानी नहीं मिल पा रहा है। पानी की मांग को लेकर पहले भी विभाग को चेताया जा चुका था मगर टेल के किसानों की समस्या की ओर ध्यान नही दिया गया। टेल के दोनों माईनर के किसान एकत्रित होकर देवनारायण के स्थान के पास बांसी बूंदी मार्ग पर पहुंचे व सडक़ पर झाडियां व मोटरसाईकिलें लगाकर जाम लगा दिया। किसानों ने जाम लगाकर विभाग के अधिकारियों को मौके पर आने की बात कहते हुए अडे रहे सुचना पाकर बांसी सरपंच सत्यप्रकाश शर्मा मौके पर पहुंचे व किसानों से समझाईश की मगर किसान सम्बंधित विभाग के उच्च अधिकारी को मौके पर बुलाने की बात कहते हुए अडे रहे। सरपंच ने जलसंसाधन विभाग के कनिष्ठ अभियंता से किसानों की समस्या को दूरभाष से अवगत करवाया जिस पर कनिष्ठ अभियंता ने कल तक पानी पहुंचने का आश्वासन दिया तब किसानों ने सडक़ के जाम को हटाया गया।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned