कैंसर पीडि़त बच्चों के लिए बिना रिप्लेसमेंट के ही मिलेगा रक्त

छोटे बालक- बालिकाओं में रक्त की कमी होने पर अब उनके परिजनों को यहां-वहां भटकना नहीं पड़ेगा।

By: pankaj joshi

Published: 08 Dec 2019, 12:33 PM IST

-0 से 14 साल की लड़कियों को भी मिलेगा लाभ
बूंदी. छोटे बालक- बालिकाओं में रक्त की कमी होने पर अब उनके परिजनों को यहां-वहां भटकना नहीं पड़ेगा। जी हां!खासतौर पर कैंसर से जूझ रहे बालक-बालिकाओं को। राज्य सरकार ने प्रदेशभर में लाडली रक्त सेवा योजना शुरू कर दी, जिसके तहत राजस्थान के सभी राजकीय ब्लड बैंकों में अब 0 से 14 साल तक की बेटियों और कैंसर पीडि़त बच्चों को अब बिना रिप्लेसमेंट के ब्लड उपलब्ध कराया जाएगा। यहां बूंदी के सामान्य चिकित्सालय में यह सुविधा शुरू हो गई।
कैंसर से जूझ रहे बच्चों और बालिकाओं के उपचार के लिए यदि रक्त की जरूरत होती है तो उन्हें अब बिना रक्त के रिप्लेसमेंट के ही आसानी से रक्त मिल सकेगा। ऐसे में अब कैंसर से पीडि़त बच्चों और छोटी बच्चियों के उपचार में रक्त की जरूरत होने पर भी परिजनों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। ब्लड बैंक स्वत: ही इन्हें अपने स्तर पर जरूरत के अनुरूप खून उपलब्ध कराएगा। सरकार की लाड़ली रक्त योजना के तहत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एनएचएम के मिशन निदेशक ने इसकी क्रियान्वित के लिए प्रदेशभर के प्रमुख चिकित्साक अधिकारी को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया।
स्पेशल कैटेगिरी में रक्त
राजकीय ब्लड बैंकों की और से 0 से 14 साल तक की बेटियों को लाडली रक्त सेवा योजना एवं कैंसर पीडि़त बच्चों के परिजन से रक्तदान कराए बिना स्पेशल कैटेगरी में रखते हुए रक्त की आपूर्ति की जाएगी। ताकि इनको रक्त की आवश्यकता पडऩे पर आसानी से रक्त मिल सके।
कराने होंगे स्वैच्छिक रक्तदान शिविर
सरकारी अस्पताल प्रशासन को समय-समय पर स्वैच्छिक रक्तदान नियमित अंतराल में शिविरों के आयोजन कराने होंगे, ताकि रक्त की आपूर्ति मांग के अनुसार सुनिश्चित की जा सके।
‘बूंदी के राजकीय अस्पताल में लाडली रक्त सेवा योजना शुरु कर दी। इसके तहत 0 से 14 साल के बालक-बालिकाओं के परिजनों को रक्त मिल सकेगा।’
डॉ.के.सी. मीणा, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, बूंदी

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned