कॉलेज में तीन सौ से अधिक विद्यार्थियों को नहीं मिल पाया प्रवेश

pankaj joshi | Updated: 23 Jul 2019, 10:46:05 PM (IST) Bundi, Bundi, Rajasthan, India

नैनवां के राजकीय भगवान आदिनाथ जयराज मारवाड़ा महाविद्यालय में बीए प्रथम वर्ष में सीटें कम होने व प्रवेश आवेदन अधिक आने से तीन सौ से अधिक विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं मिल पाया।

नैनवां. नैनवां के राजकीय भगवान आदिनाथ जयराज मारवाड़ा महाविद्यालय में बीए प्रथम वर्ष में सीटें कम होने व प्रवेश आवेदन अधिक आने से तीन सौ से अधिक विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं मिल पाया।
कॉलेज प्रशासन ने बताया कि पहले कॉलेज स्ववित्तपोषी था तो जितनी सीटें होती थी उतने ही आवेदन आते थे। सरकार ने कॉलेज को सरकारी कर दिया तो तय सीटों से दोगुना आवेदन आ गए। महाविद्यालय में प्रथम वर्ष के लिए 340 सीटें आरक्षित है, जबकि आरक्षित सीटों की तुलना में 6 09 आवेदन जमा हुए हैं। जिनमें से आरक्षित सीटों के बराबर वरीयता सूची जारी कर फीस जमा करवाई जा चुकी है। जिससे अब 299 विद्यार्थी प्रवेश से वंचित रह गए।
आर्थिक पिछड़ा (सामान्य वर्ग) से आवेदन मांगे
प्राचार्य पंकज गुप्ता ने बताया कि महाविद्यालय में स्वीकृत 340 सीटों में से 34 सीटें आर्थिक पिछड़ा वर्ग (सामान्य वर्ग) के लिए रिक्त रखी है। प्रमाण पत्र नहीं बनने से इस वर्ग में आवेदन प्राप्त नहीं हो पाए थे। इस वर्ग के लिए अब अलग से आवेदन के लिए अंतिम तिथि ३० जुलाई तक बढ़ा दी है।
आंदोलन पर उतरे छात्र
प्रवेश सीटें बढ़ाने की मांग को लेकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं व प्रवेश से वंचित रहे विद्यार्थियों ने मंगलवार को एसडीएम कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। छात्रों ने यहां टायर जलाकर विरोध जताया। वे वाहन रैली के रूप में उपखंड अधिकारी कार्यालय पर पहुंचे थे। इस दौरान एबीवीपी के जिला सहसंयोजक, दिलखुश पोटर, नगर मंत्री अनुराग गौतम, महाविद्यालय इकाई अध्यक्ष आयुष गोस्वामी, छात्रसंघ अध्यक्ष दीपक शर्मा, लोकश मीणा, महेन्द्र मीणा, विकास वमा आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned