कोरोना वायरस अलर्ट : जिले में धारा 144 लागू, रोडवेज बसों पर शुरू हुआ दवाओं का छिडक़ाव

मुख्यमंत्री ने बुधवार शाम आदेश जारी कर प्रदेश में 31 मार्च तक धारा 144 लागू कर दी, ताकि लोगों को कोरोना वायरस के प्रकोप से बचाया जा सके।निषेधाज्ञा की पालना जिला और उपखंड मजिस्ट्रेट कराएंगे।

By: Narendra Agarwal

Updated: 19 Mar 2020, 12:50 PM IST

बूंदी. मुख्यमंत्री ने बुधवार शाम आदेश जारी कर प्रदेश में 31 मार्च तक धारा 144 लागू कर दी, ताकि लोगों को कोरोना वायरस के प्रकोप से बचाया जा सके।निषेधाज्ञा की पालना जिला और उपखंड मजिस्ट्रेट कराएंगे।उक्त अवधि तक लोग अधिक संख्या में एकत्र नहीं हो सकेंगे।मुख्यमंत्री ने आदेश में कहा कि धार्मिक स्थल एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों पर लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को एकत्र नहीं होने की सलाह दी जाए।
बूंदी. कोरोना वायरस से देश में मचे हाहाकार के बाद रोडवेज प्रशासन ने भी अपने यात्रियों की सुरक्षा के लिए बसों में छिडक़ाव व स्क्रीनिंग करनी शुरू कर दी। प्रबंधक संचालन महेंद्र कुमार मीणा ने बताया कि डिपो से निकलने वाली प्रत्येक बस पर छिडक़ाव कर स्कीनिंग कर बसों को गन्तव्य स्थान पर भेजना शुरू कर दिया।

जेल में बंदियों से मुलाकात रोकी
बूंदी. कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए डीजी जेल एन.आर. के रेडी ने आदेश जारी कर सात दिन के लिए बंदियों के परिजनों की मुलाकात को बंद कर दिया। आपात परिस्थितियों में ही केवल परिजनों एवं अधिवक्ताओं को बंदियों से मिलवाया जाएगा। जिला कारागृह बूंदी के कार्यवाहक उप अधीक्षक लोकोज्जवल सिंह ने बताया कि बूंदी जेल में रोजना 30 से ज्यादा बंदियों से मुलाकात के लिए परिजन मुलाकात दिवस पर आते हैं।

महावीर जयंती महोत्सव के 30 मार्च के कार्यक्रम स्थगित
बूंदी. शहर के चौगान जैन मंदिर में बुधवार रात को दिगम्बर जैन खंडेलवाल सरावगी समाज की बैठक हुई। बैठक में देश में कोरोना वायरस से मच रहे हाहाकार व सरकार की ओर से जारी की गई एडवाएजरी को देखते हुए महावीर जयंती महोत्सव के तहत 22 मार्च से शुरू होने वाले सभी कार्यक्रम 30 मार्च तक स्थगित करने का निर्णय किया गया।बैठक की अध्यक्षता समाज के अध्यक्ष ओम प्रकाश बडज़ात्या ने की। आगामी कार्यक्रमों पर चर्चा करने के लिए अब 31 मार्च को बैठक होगी।

31 मार्च तक न्यायालयों में अत्यावश्यक कार्य ही होंगे
बूंदी. राजस्थान उच्च न्यायालय की ओर से महामारी कोरोना वायरस की रोकथाम के मध्यनजर समस्त जिलों के जिला न्यायधीश को निर्देश जारी किए गए।
नोडल अधिकारी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गिरिजा भारद्वाज ने बताया कि माननीय राजस्थान उच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार 31 मार्च 2020 तक अधीनस्थ न्यायालयों में अत्यावश्यक कार्य ही संपादित किए जाएंगे। गवाह, पक्षकारों एवं अभियुक्तों को 31 मार्च तक न्यायालय में पेशी पर उपस्थित नहीं होने के लिए निर्देशित किया गया। साथ ही अधिवक्ता को भी कहा कि वह अपने पक्षकार को इस संबंध में अवगत कराएं कि उनकी अनुपस्थिति में कोई विपरीत आदेश उनके विरुद्ध पारित नहीं किया जाएगा।

घर-घर पहुंच रही आशासहयोगिनियां
कोरोना से बचने के बारे में जागरूकता लाने के लिए आशा सहयोगिनियां घर-घर पहुंच रही। उन्होंने बुधवार को कई घरों में लोगों को सावचेत रहने के बारे में बताया। साथ ही उन्हें सेनेटाइजर और मास्क का उपयोग करने के लिए कहा। मेघारावत की झोंपडिय़ा गांव में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शैवाली भटनागर, आशा वर्कर सुमित्रा राठौर आदि घर-घर गई और कोरोना के बारे में बताया।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned