पेयजल विभाग के ठेकेदार की गलती, खामियाजा भुगत रहे उपभोक्ता

नलों के बिल जमा होने के बावजूद बकाया राशि जोडकऱ भेजने से उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

pankaj joshi

18 Feb 2020, 06:22 PM IST

पेयजल विभाग के ठेकेदार की गलती, खामियाजा भुगत रहे उपभोक्ता
कापरेन. नलों के बिल जमा होने के बावजूद बकाया राशि जोडकऱ भेजने से उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पेयजल विभाग के ठेकेदार की गलती का खमियाजा उपभोक्ता को उठाना पड़ रहा है। पूर्व में फि नोपेटेक लिमिटेड ई मित्र द्वारा पेयजल के बिल जमा किए गए थे। सभी उपभोक्ताओं से छह माह के बिल जमा किए गए थे। इसके चार माह बाद विभाग ने फि र से उपभोक्ताओं को नए बिलों में पुराना बकाया राशि जोडकऱ भेज दी। बिलों में बकाया राशि देख उपभोक्ताओं के होश उड़े हुए हैं और विभाग के प्रति गहरा रोष जता रहे हैँ। बिल को लेकर शिकायत करने पहुंचे उपभोक्ताओं को जब कार्यालय पर कोई जिम्मेदार अधिकारी नहीं मिला तो उन्होंने नाराजगी प्रकट की। कुछ देर बाद कार्यालय पर पहुचे विभाग के एलडीसी दिनेश शर्मा को उपभोक्ता खेमराज मीणा, शैलेन्द्र सिंह, प्रमोद गुप्ता व रामप्रसाद मीणाद ने बताया कि कापरेन कस्बे में करीब 2800 उपभोक्ता हैं और पिछली बार 810 उपभोक्ताओं के बिल जमा हुए थे। करीब छह लाख रुपए जमा होने के बावजूद नए बिलों में यह राशि चढकऱ आ गई हैं।
ठेकेदार की गलती भुगत रहे उपभोक्ता
विभाग के एलडीसी दिनेश शर्मा ने बताया कि पिछली बार बिल ठेकेदारी में होने से ठेकेदार द्वारा ही जमा किए गए थे और नए बिल भी ठेकेदार द्वारा ही जारी किया गया हैं। जिनमें पुरानी राशि जमा होने के बावजूद चढकऱ आ गई है। विभाग के कनिष्ठ अभियंता अजय गहलोत व एलडीसी दिनेश शर्मा ने बताया कि जिन उपभोक्ताओं के पास पुराने बिल की जमा रसीद हैं उनके बिलों में संशोधन करके शेष राशि के बिल जमा किए जाएंंगे। जिनके पास पुरानी रसीद नहीं है उनके बिल भी रिकॉर्ड में देखकर संशोधन किया जाएगा। ठेकेदार से भी इस मामले में पूरा रिकॉर्ड लिया जा रहा है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned