अखंड पाठ साहिब की समाप्ति, निशान साहिब के चोले की सेवा

गुरु गोविंद सिंह के चार साहिबजादे एवं माता के शहीदी दिवस पर यहां गुरुद्वारा दु:खनिवारण हेमकुंटवासी दरबार में मनाया गया।

By: pankaj joshi

Published: 28 Dec 2020, 08:03 PM IST

अखंड पाठ साहिब की समाप्ति, निशान साहिब के चोले की सेवा
बूंदी. गुरु गोविंद सिंह के चार साहिबजादे एवं माता के शहीदी दिवस पर यहां गुरुद्वारा दु:खनिवारण हेमकुंटवासी दरबार में मनाया गया। 25 दिसम्बर को शुरू हुए अखंड पाठ साहिब की समाप्ति रविवार सुबह साढ़े दस बजे हुई। निशान साहिब की चोले की सेवा की गई। साढ़े ग्यारह बजे से दीवान सजाया गया।
सत्संग सभा गुरुनानक कॉलोनी गुरुद्वारा ने हरजस गायन कर दीवान की शुरुआत की। भाई मेजर सिंह ने इतिहास के साथ शबद गायन किया। ज्ञानी बहादुर सिंह ने कथा एवं गुरबानी के माध्यम से चार साहिबजादे एवं माता गुजरकौर के शहीदी इतिहास का वर्णन कर संगत को निहाल किया। गुरुनानक कॉलोनी के नरेन्दर सिंह साहनी, कुलजीत कौर एवं ग्रंथी कुलदीप सिंह ने कविता गायन किया। गुरुद्वारा साहिब के हेड ग्रंथी कृपाल सिंह ने अरदास कर दीवान की समाप्ति की। इस मौके पर पूर्व सरपंच बलदेव सिंह, कश्मीर सिंह, तिलक सिंह, मनदीप सिंह, निर्मल सिंह, बलदेव सिंह, भगवान सिंह को सिरोपाओ भेंट किया। गुरुद्वारा संरक्षक राजकुमार बिलोची ने आभार व्यक्त किया। संचालन प्रधान कविन सिंह ने किया। कोविड के नियमों की पालना करते हुए अटूट लंगर बरता।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned