किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में निकाली रैली

अशोकनगर स्थित गुरुद्वारा परिसर में रविवार को केंद्र सरकार की ओर से लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में हिंडोली किसान संघर्ष समिति की बैठक हुई।

By: pankaj joshi

Published: 07 Dec 2020, 08:09 PM IST

किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में निकाली रैली
बड़ानयागांव . अशोकनगर स्थित गुरुद्वारा परिसर में रविवार को केंद्र सरकार की ओर से लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में हिंडोली किसान संघर्ष समिति की बैठक हुई। बैठक में किसानों ने कृषि कानूनों का विरोध करते हुए आंदोलन कर रहे किसानों का समर्थन किया। किसानों की ओर से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर मंगलवार को भारत बंद का समर्थन करते हुए कस्बे को बंद रखने का निर्णय लिया गया। बैठक में मंगलवार तक कृषि कानूनों को सरकार की ओर से वापस नहीं लिया गया तो क्षेत्र के किसान भी दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में दिल्ली कूच करेंगे। बैठक के बाद क्षेत्र के किसानों ने कस्बे में कृषि कानूनों के विरोध में रैली निकालकर विरोध जताया। रैली में किसानों ने कानून वापस लेने की मांग को लेकर सरकार के खिलाफ नारे लगाए। इस दौरान सरपंच बलजीत सिंह, अमर सिंह कसाना, आमोद शर्मा, अमरदीप सिंह बड़ानयागांव, नरेंद्र अटवाल फार्म, सतनाम सिंह गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी प्रधान, हजारी लाल कुमावत, श्रवण सिंह व्यापार मंडल अध्यक्ष, करण सिंह, मथुरा गुर्जर, रणवीर सिंह, औकार माली, सुरेश गुर्जर, रामगोपाल मीणा मौजूद रहे।
बैठक में किसान विरोधी कानून को वापस लेने की मांग
केशवरायपाटन. किसान विरोधी कानून को वापसी लेने की मांग करते हुए कस्बे के किसान नेताओं ने शनिवार को बैठक की। किसान नेता भैरुदत्त दाधीच ने बताया कि बैठक में प्रस्तावित भारत बंद पर विचार विमर्श किया। बैठक में उपखंड के सभी किसानों से अपने शहर, कस्बे व गांवों में शांतिपूर्वक बंद रख कर काले कानून की प्रतियां जलाने का आव्हान किया।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned