पहले ही दिन फूला मंडी का दम, अधिकारियों ने पहुंचकर संभाला मोर्चा

बूंदी की कृषि उपज मंडी में जिंसों की खरीद शुरू कराने के पहले दिन ही दम फूल गया।

By: pankaj joshi

Published: 07 Apr 2020, 11:08 PM IST

पहले ही दिन फूला मंडी का दम, अधिकारियों ने पहुंचकर संभाला मोर्चा
- मंडी में हम्माल व अन्य लोगों को अब प्रवेश दोपहर 12 बजे बाद मिलेगा
-भीड़ नहीं हों इसके लिए एक ट्रैक्टर-ट्रॉली पर एक मुनीम व एक आढ़तिया को इजाजत
बूंदी.रामगंजबालाजी. बूंदी की कृषि उपज मंडी में जिंसों की खरीद शुरू कराने के पहले दिन ही दम फूल गया। पहले दिन मंडी में जमा हुई भीड़ को देखकर आढ़तिया संघ ने हाथ खड़े कर दिए। तब शाम को प्रशासनिक अधिकारियों ने खरीदारों से साथ बैठक की। बैठक में मंडी चालू रखने का निर्णय हुआ।
प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रशासन ने मंडी में जिंसों की खरीद शुरू कराने का निर्णय किया था। इसी निर्णय के अनुसार किसानों को मंडी में प्रवेश दिया गया। किसान मंडी परिसर में ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को कतार में खड़ा करके इन्हीं में मौजूद रहे। बाद में जब नीलामी शुरू हुई तो खरीदार और मुनीमों की संख्या अधिक हो गई। सोशल डिस्टेंस की कहीं पालना नहीं हुई। इसी दौरान बड़ी संख्या में हम्माल भी पहुंच गए, जिससे मंडी में काम करने वालों की संख्या कई अधिक हो गई। इन्हें भीड़ कम करने के लिए समझाइश भी की, लेकिन कोई नहीं माना। तब आढ़तिया संघ ने मंडी में खरीद बंद रखने की घोषणा कर दी। इससे प्रशासनिक अधिकारियों में हडक़ंप मच गया।
दोपहर बाद जिला कलक्टर अन्तर सिंह नेहरा के निर्देश पर बूंदी के उपखंड अधिकारी कमल कुमार मीणा, पुलिस उपअधीक्षक मनोज शर्मा पहुंचे और बैठक की। बैठक में मंडी सचिव रामबिलास यादव, आढ़तिया संघ के अध्यक्ष हनुमान माहेश्वरी, सचिव नीरज अग्रवाल सहित प्रमुख पदाधिकारी मौजूद रहे। सभी से चर्चा के बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने निर्णय किया। अब मंडी में बुधवार से सुबह 7 से दोपहर 12 बजे सिर्फ किसानों को प्रवेश दिया जाएगा। इस अवधि में वही किसान आएंगे, जिन्हें आढ़तिया ने टोकन जारी किए। इसके बाद सभी को कतारों में लगाने के बाद एक आढ़तिया के साथ एक मुनीम ही रहेगा। खरीदार भी सोशल डिस्टेंस की पालना करते हुए नीलामी स्थल पर पहुंचेंगे।
नीलामी प्रक्रिया पूरी होने के बाद दोपहर 12 बजे हम्मालों को प्रवेश दिया जाएगा। तब वह किसानों से यार्ड में जिंस का ढेर कराकर तुलाई का काम शुरू करेंगे। इस निर्णय के बाद मंडी में कारोबार जारी रखने का निर्णय हुआ। यहां पुलिस उपअधीक्षक शर्मा ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से जाप्ता बढ़ा दिया। सदर थाने के प्रभारी मौजूद रहेंगे। किसी को कोई परेशानी नहीं हों और कारोबार जारी रहे, इसके लिए तमाम बातों का कड़ाई से पालन कराया जाएगा।
किसानों को कम मिले दाम
इधर, मंडी में गेहूं बेचने आए किसानों ने कहा कि उन्हें उपज का दाम कम मिला। यहां गेहूं का भाव 1650 से 1941 रुपए क्विंटल रहा।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned