सिंचाई के लिए पानी मिलेगा, भू-जलस्तर बढ़ेगा

उपखंड की बरसाती नदी गलवा व फूलेता के व्यर्थ बहकर जाने वाले पानी को रोकने के लिए एनिकटों का निर्माण पूरा हो गया।

By: pankaj joshi

Published: 17 Feb 2021, 09:01 PM IST

सिंचाई के लिए पानी मिलेगा, भू-जलस्तर बढ़ेगा
नैनवां. उपखंड की बरसाती नदी गलवा व फूलेता के व्यर्थ बहकर जाने वाले पानी को रोकने के लिए एनिकटों का निर्माण पूरा हो गया। गलवा व फूलेता नदी में बरसात के दिनों में पानी की अच्छी आवक हो रही। यहां जल संकट से निपटने के लिए रिलायंस फाउण्डेशन ने वॉटर सिक्योरिटी प्लान तैयार करवाया था। उसके बाद गलवा नदी पर सुवानिया पंचायत के खोलाड़ा गांव के पास व फूलेता नदी पर बागेड़ा गांव के पास दो मीटर ऊंचे एनिकट का निर्माण कराया।दोनों एनिकट बनने से बरसात के बाद नदी में पानी ठहरा रहेगा। एनिकट की मजबूती के लिए साढ़े नौ मीटर चौड़ा वॉटर फॉल बनाया गया। दोनों और तीन-तीन मीटर की एक्सटेंशन वॉल का निर्माण कराया। प्रति एनिकट साढ़े पांच-पांच लाख रुपए निर्माण की लागत आई। दोनों पंचायतों के आठ गांवों के लिए नदी का पानी सिंचाई भू जलस्तर बढ़ाने के काम आएगा। खोलाड़ा एनिकट से खोलाड़ा, पीपरवाला, सुंथली व धीरपुर के किसानों को बागेड़ा नदी पर बने एनिकट से बागेडा, खैरूणा नाथड़ा व नाथड़ी गांवों के किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध हो सकेगा तथा साथ ही वाटर हार्वेस्ट पद्धति से भू जल स्तर में वृद्धि होगी।
दो माह में बन गए दोनों एनिकट
रिलायंस फाउण्डेशन के प्रोजेक्ट मैनेजर मनीष शर्मा ने बताया कि एनिकटों से वाटर हार्वेस्ट होता है। जिससे भू जल स्तर में वृद्धि होने से किसान एनिकट के पानी को सिंचाई के लिए उपयोग में लेकर फसलोत्पादन बढ़ा सकेंगे। बरसात के दिनों में नदी का बहाव देखने के बाद पानी को रोकने के लिए पंचायत व ग्रामीणों ने एनिकट निर्माण का प्रस्ताव रखा था। दोनों एनिकटों का कार्य दिसम्बर माह में शुरू किया जाकर फरवरी माह में पूरा हो गया।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned