खिलाड़ियों के लिए यह बनी बड़ी परेशानी...कैसे होगा समाधान

खिलाड़ियों का भविष्य सुधारने वाले खेल मैदानों की ही सूरत बिगड़ गई हो तो खिलाड़ी खेलने के लिए कहां जाएं। यहीं स्थिति कस्बे में दो प्रमुख खेल मैदानों हो रही है। खेलना तो दूर वहां आसपास भी कोई जाना नहीं चाहता है।

By: pankaj joshi

Published: 13 Jun 2021, 09:05 PM IST

खिलाड़ियों के लिए यह बनी बड़ी परेशानी...कैसे होगा समाधान
देई. खिलाड़ियों का भविष्य सुधारने वाले खेल मैदानों की ही सूरत बिगड़ गई हो तो खिलाड़ी खेलने के लिए कहां जाएं। यहीं स्थिति कस्बे में दो प्रमुख खेल मैदानों हो रही है। खेलना तो दूर वहां आसपास भी कोई जाना नहीं चाहता है। यहां पर राजकीय सीनियर सैकेण्डरी के खेल मैदान में नाले का गंदा पानी व कस्बे की गंदगी डालने से खेल मैदान गंदा तालाब बन गया है। जिसमें मवेशी विचरण करते रहते है।
लाखों खर्च, पर उपयोग नहीं
कस्बे के बांसी रोड पर मास्टर विलेज प्लान योजना में 2013-14 में 15 लाख 73 हजार 857 रुपए खर्च कर स्टेडियम की चारदीवारी का निर्माण करवाया गया था, लेकिन अभी तक इस स्टेडियम में कभी कोई खेल आयोजित नहीं हुआ है। स्टेडियम में बबूल उगा हुआ है। कुछ जगह पर गिट्टी के ढेर लगे हुए हैं। यही नहीं यहां पर गड्ढे भी हो रहे है। ऐसे में यहां खेलना तो दूर कोई पैदल भी नहीं चल सकता है। स्टेडियम कस्बे से दूर है और पास ही मिल से निकलने वाले गंदे पानी की बदबू के चलते इस ओर कोई नहीं जाता है। इस वजह से कस्बे के कई लोगों को तो स्टेडियम होने की जानकारी तक नहीं है। अगर स्टेडियम के बबूलों को कटवाकर दौडऩे के लिए टे्रक विकसित किए जाए तो सुबह शाम सैर पर जाने वाले लोगों को स्टेडियम का फायदा मिल सकता है।
साथ ही लोगों को स्टेडियम से जुडाव होने पर अन्य खेल गतिविधियां शुरू हो सकती है। फुटबॉलर ऋषभ गोस्वामी ने बताया कि कस्बे के दोनों खेल मैदानों की स्थिति काफी दयनीय है। अगर खेल मैदान ठीक हो तो खेल प्रतिभाएं निकलकर आगे आए। यहां पर कोंचिंग की शुरूआत की थी लेकिन खेल मैदान नहीं होने से खिलाड़ियों ने भाग नहीं लिया।
इस बारे में राजकीय सीनियर हायर सैकेण्डरी विद्यालय प्रधानाचार्य महेश मीना ने बताया कि स्कूल के खेल मैदान में गंदे पानी व कचरे के लिए 19 अप्रेल को लिखित रूप से पंचायत को सूचित किया था। ग्राम विकास अधिकारी प्रेमराज पोटर ने बताया कि नाले का निर्माण होने से पानी आया था। मैदान की सफाई करवा दी जाएगी। स्टेडियम के बबूलों को कटवाकर वहां पर सफाई करवा दी जाएगी।


खेल मैदान का आवंटन नहीं होने से युवाओं में रोष
बड़ानयागांव. क्षेत्र के डाटूंदा ग्राम पंचायत मुख्यालय पर काफी समय खेल मैदान के लिए जमीन का आवंटन नहीं होने से क्षेत्र के युवाओं में रोष बना हुआ है। खेल मैदान के अभाव में क्षेत्र के युवाओं व खिलाड़ियों को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। युवा सोनीराम काबरा, मुकेश भाटिया, सुल्तान मीणा आदि ने बताया कि यहां खेल मैदान के लिए जमीन का आवंटन नहीं करने से युवाओं को परेशानी झेलनी पड़ रही है। क्षेत्र के आर्मी व पुलिस की तैयारी करने वाले युवाओं को खेल मैदान के अभाव में मजबूरी में राष्ट्रीय राजमार्ग 148 डी पर दौड़ लगाने पड़ रही है। युवाओं ने खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना को अपनी समस्याओं से अवगत करवा कर शीघ्र खेल मैदान आवंटन कराने की मांग की।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned