बूंदी जिला मुख्यालय से गांव सीधे जुड़े, विकास की खुली राह

झालीजी का बराना कस्बे में प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत मेज नदी पर 28.77 करोड़ की लागत से बने उच्च स्तरीय पुल को लोकसभा अध्यक्ष और कोटा-बूंदी सांसद ओम बिरला ने शनिवार को जनता को समर्पित कर क्षेत्र के लोगों को बड़ी सौगात दी।

By: pankaj joshi

Published: 27 Jun 2021, 08:45 PM IST

बूंदी जिला मुख्यालय से गांव सीधे जुड़े, विकास की खुली राह
झालीजी का बराना में 28.77 करोड़ लागत के उच्च स्तरीय पुल का लोकार्पण
बूंदी. झालीजी का बराना. झालीजी का बराना कस्बे में प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत मेज नदी पर 28.77 करोड़ की लागत से बने उच्च स्तरीय पुल को लोकसभा अध्यक्ष और कोटा-बूंदी सांसद ओम बिरला ने शनिवार को जनता को समर्पित कर क्षेत्र के लोगों को बड़ी सौगात दी।
इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि नदी में तेज बहाव आने पर आवागमन के सारे रास्ते बंद हो जाते हैं। एक गांव दूसरे गांव से कट जाते थे। इस परेशानी को देखते हुए क्षेत्र की बरसों पुरानी समस्या का समाधान कर ग्रामीणों का सपना पूरा हुआ है। उन्होंने कहा कि 28.77 करोड़ रुपये की लागत से बना यह पुल दूर दराज के गांवों को जोडऩे का भी काम करेगा। आवागमन के रास्ते भी सुगम होंगे। सारे गांव सीधे जिला मुख्यालय से जुड़े रहेंगे। उन्होंने कहा कि आवागमन की सुविधा से व्यापार बढ़ेगा। किसान को एक से दूसरी जगह माल ले जाने में सुविधा होगी। व्यापार में सुविधा होगी। इस दौरान केशवरायपाटन विधायक चंद्रकांता मेघवाल, प्रधान वीरेन्द्र सिंह हाड़ा, बिरला के निजी सचिव हरिनंद कहार सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधि मौजूद थे।
सारा श्रेय लोकसभा अध्यक्ष को
लोकसभा अध्यक्ष बिरला जब पुल का लोकार्पण करने पहुंचे तो वहां जमा ग्रामीणों में अलग ही उत्साह और उमंग नजर आया। अपनी बरसों पुरानी मांग पूरी होते देख वे बहुत खुश थे। पुल की स्वीकृति से निर्माण तक का पूरा श्रेय लोकसभा अध्यक्ष बिरला को देते हुए ग्रामीणों ने कहा कि पुल के चालू होने से उनकी बहुत सारी कठिनाइयों का अंत हो गया।
दोनों तरफ लगेंगी रैलिंग
पुलिया के करीब ढाई सौ मीटर हिस्से में दोनों ओर रैलिंग लगाई जाएंगी। कार्यक्रम के दौरान मौजूद सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता विजय कुमार जैन ने बताया कि इससे दोनों तरफ की दीवार पर सुरक्षा और बढ़ेंगी। इसके लिए प्रस्ताव बना लिए।
2017-18 में मिली थी कार्य की स्वीकृति
वर्ष 2014 में सांसद निर्वाचित होने के बाद बिरला ने आमजन की परेशानी को समझते हुए प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत उच्च स्तरीय पुल के निर्माण की स्वीकृति के प्रयास शुरू किए। उनके प्रयासों से वर्ष 2017-18 में कार्य की स्वीकृति मिल गई। पुल का निर्माण कार्य 13 अक्टूबर 2018 को शुरू हुआ और इसे 28 करोड़ 77 लाख रुपये की लागत से इसी वर्ष 31 मार्च को पूरा कर लिया गया।
दो से तीन माह बंद रहता था गेण्डोली मार्ग
झालीजी का बाराना के निकट मेज नदी पर पहले छोटी पुलिया बनी हुई थी। इस पुलिया की ऊंचाई इतनी कम थी कि मानसून आने पर पहली ही बरसात में पानी का स्तर पुलिया से ऊंचा हो जाता था। इस कारण मानसून के दौरान करीब दो से तीन माह तक दो दर्जन से अधिक गांवों के लोगों का आवागमन बंद हो जाता था। ऐसे में अन्य रास्ता लेना पड़ता था, जो बहुत लम्बा पड़ता था। पानी के पुलिया पर बहने के बावजूद वहां से निकलने के प्रयास में कुछ लोग बह भी चुके थे। ऐसे में इन परिस्थितियों को देखते हुए लोग लंबे समय से यहां उच्च स्तरीय पुल के निर्माण की मांग कर रहे थे।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned