कर्फ्यू से मूर्ति कला केंद्रों पर पसरा सन्नाटा, कामगारों की बढ़ी चिंता

कस्बे में स्थित मूर्ति कला केंद्रों में दूसरे दिन रविवार को भी वीकेंड कफ्र्यू के तहत काम बंद रहने से सन्नाटा पसरा रहा। यहां कस्बे में दो दर्जन से अधिक स्थानों पर सफेद व लाल पत्थर में स्थानीय कलाकारों की ओर से आकर्षक मूर्तियां निर्माण के साथ अन्य उत्पाद तैयार करने का कार्य किया जाता है।

By: pankaj joshi

Published: 19 Apr 2021, 09:22 PM IST

कर्फ्यू से मूर्ति कला केंद्रों पर पसरा सन्नाटा, कामगारों की बढ़ी चिंता
बड़ानयागांव. कस्बे में स्थित मूर्ति कला केंद्रों में दूसरे दिन रविवार को भी वीकेंड कफ्र्यू के तहत काम बंद रहने से सन्नाटा पसरा रहा। यहां कस्बे में दो दर्जन से अधिक स्थानों पर सफेद व लाल पत्थर में स्थानीय कलाकारों की ओर से आकर्षक मूर्तियां निर्माण के साथ अन्य उत्पाद तैयार करने का कार्य किया जाता है। कफ्र्यू के चलते केंद्रों पर सन्नाटा पसरने से आगामी दिनों को लेकर यहां मूर्तियों का निर्माण करने वाले कामगारों की रोजगार को लेकर चिंता बढऩे लगी है। मूर्ति निर्माण करने वाले नंदकिशोर कुमावत, राम प्रकाश कुमावत ने बताया कि पिछले साल लॉकडाउन के चलते यहां केंद्रों पर काम बंद रहने से रोजगार का संकट खड़ा हो गया था। ऐसे में परिवार का पालन पोषण करने को लेकर काफी परेशानियों से जूझना पड़ा। कामगारों को संकट के समय में सरकार की ओर से आर्थिक मदद नहीं मिलने से परेशानी उठानी पड़ी। मूर्ति कला केंद्रों पर वापस कार्य शुरू होने से रोजगार मिलना शुरू हो गया था,लेकिन फिर से कफ्र्यू लगने से काम बंद पड़ा है। ऐसे में रोजगार को लेकर आगामी दिनों को लेकर चिंता सताने लगी है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned