आग की लपटों से पोते को बचाने में दादा-दादी भी झुलसे

थाना क्षेत्र के नाथड़ा गांव में खेत पर बनी टापरी में आग लग गई। जिससे टापरी में खेल रहा डेढ़ वर्ष का बालक विजेन्द्र झुलस गया व उसको बचाने के प्रयास में 70 वर्षीय दादा कजोड़ व 66 वर्षीय दादी भूरीबाई भी झुलस गए।

By: pankaj joshi

Updated: 26 Feb 2021, 09:08 PM IST

आग की लपटों से पोते को बचाने में दादा-दादी भी झुलसे
खेत पर बनी टापरी में लगी आग
नैनवां. थाना क्षेत्र के नाथड़ा गांव में खेत पर बनी टापरी में आग लग गई। जिससे टापरी में खेल रहा डेढ़ वर्ष का बालक विजेन्द्र झुलस गया व उसको बचाने के प्रयास में 70 वर्षीय दादा कजोड़ व 66 वर्षीय दादी भूरीबाई भी झुलस गए। तीनों को उपचार के लिए परिजन सीधे ही बूंदी ले गए। पुलिस भी मौके पर पहुंची और ग्रामीणों के सहयोग से आग पर काबू पाया।
खेत पर आग की लपटे उठती देखकर गांव के अन्य लोग भी आग पर काबू पाने के लिए दौड़ पड़े। आग की सूचना पर थाने से एएसआई शंकरलाल यादव पुलिस जाप्ता लेकर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने बताया कि नाथड़ा निवासी कजोड़ गुर्जर के खेत पर टापरी बनी हुई थी। कजोड़ का डेढ़ वर्ष का पोता टापरी के पास खेल रहा था। कजोड़ व उसकी पत्नी पास ही खेत पर काम कर रहे थे। टापरी व टापरी के पास रखे चारे में आग लग गई। आग लगने के समय बच्चा टापरी के अन्दर ही था। आग की लपटे उठती देखकर दादा-दादी बचाने दौड़े। बच्चे को आग की लपटों से बाहर निकालते समय दोनों भी झुलस गए। एएसआई ने बताया कि उनके नाथड़ा गांव पहुंचने से पहले ही आग से झुलसे तीनों को परिजन उपचार के लिए बूंदी ले जा चुके थे तथा ग्र्रामीण आग पर काबू पाने में लगे हुए थे।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned