सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारी चुग रहे खाद्य सुरक्षा का दाना

सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारी भी चुग रहे गरीबों की खाद्य सुरक्षा योजना का दाना।

By: pankaj joshi

Published: 07 Mar 2020, 12:02 PM IST

सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारी चुग रहे खाद्य सुरक्षा का दाना
- तीन सौ दस मामले सामने आए तो एसडीएम ने नाम हटाए
- अन्य प्रकार के भी 728 अपात्र निकले, जिनकी हैसियत की जांच चल रही
नैनवां. सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारी भी चुग रहे गरीबों की खाद्य सुरक्षा योजना का दाना। नैनवां उपखंड की 30 ग्राम पंचायतों में ऐसे 310 सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों के परिवार भी पात्र बनकर राशन डीलरों से खाद्य सुरक्षा का एक व दो रुपए किलो का गेहूं उठाते रहे। उपखंड अधिकारी श्योराम ने इन सभी सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों के परिवारों को अपात्र मानते हुए इनको मिलने वाले खाद्य सुरक्षा के लाभ पर रोक लगा दी। अब इन परिवारों से प्राप्त लाभ की वसूली की जाएगी। प्रशासन ने राशन डीलरों से अपात्रों की सूचियां मांगी तो ग्राम पंचायतों में सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों के अलावा भी 728 परिवार ऐसे अपात्र निकले जिनमें कई परिवार आयकर दाता, एक लाख से अधिक वार्षिक आय, चौपहिया वाहन मालिक मिले। योजना में शामिल कर रखे ऐसे अपात्रों की हैसियत की ग्रामीण क्षेत्र में पटवारियों व ग्राम विकास अधिकारियों से व शहरी क्षेत्र में नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी से जांच शुरू करा दी।
इन पंचायतों में इतने हटाए नाम
उपखंड अधिकारी ने आदेश जारी कर ग्राम पंचायत कोलोहेडा में 18 , दुगारी में 52, करवर में 20, माणी में 32, तलवास में 15, पीपल्या में 8 , सुवानिया में 11, भजनेरी में 13, गुढादेवजी में 15, सहण में 14, बांसी में 6 , डोकून में 10, जरखोदा में 14, गुढासदावर्तिया में 7, खानपुरा में 7, रजलावता में 4, गंभीरा में 7, समीधी में 3, देई में 4, सादेड़ा में 6 , जजावर में 4, आंतरदा में 4, मोड़सा मेें 4, बालापुरा में 7, जैतपुर में 11, मरां, फूलेता व कैथूदा में एक-एक तथा नगरपालिका क्षेत्र में 6 परिवारों के राशन कार्डों को खाद्य सुरक्षा योजना से हटा दिया।
पात्रता के नियम
खुद या परिवार का कोई भी सदस्य सरकारी या अर्द्ध सरकारी स्वायतशासी संस्थाओं में नियमित कर्मचारी, अधिकारी नहीं हो।एक लाख से अधिक रुपए की वार्षिक से अधिक पेंशन प्राप्त नहीं करता हो।खुद या परिवार के सदस्यों के स्वामित्व में कुल कृषि भूमि लघु कृषक के निर्धारित सीमा से अधिक नहीं, खुद व परिवार के पास ग्रामीण क्षेत्र में 2000 वर्ग फीट व नगरपालिका क्षेत्र में 1500 वर्ग फीट से अधिक क्षेत्रफल में निर्मित पक्का या आवासीय परिसर नहीं हो। परिवार का कोई भी एक सदस्य आयकरदाता नहीं हो। स्वयं व परिवार के पास चौपहिया वाहन नहीं हो।
योजना में लाभार्थियों की स्थिति
नैनवां उपखंड की 33 ग्राम पंचायतों में कुल 62 हजार 722 राशन कार्ड जारी बताए। इनमें से 36 हजार 984 राशन कार्ड खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ उठा रहे थे। नगरपालिका क्षेत्र में कुल 6 हजार 684 राशन कार्ड धारी थे। इनमें से 2 हजार 884 राशन कार्ड धारी खाद्य सुरक्षा का लाभ उठा थे।
अब 310 सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों के परिवार के नाम खाद्य सुरक्षा योजना से हटा दिए। योजना में अब तक प्राप्त किए गेहूं की मात्रा पर 27 रुपए प्रति किलों के हिसाब से राशि की वसूल की जाएगी। वसूली के लिए नोटिस बनवाने शुरू कर दिए। इनके अलावा अन्य प्रकार के मिले अपात्रों की हैसियत की पटवारियों, ग्राम विकास अधिकारियों व अधिशासी अधिकारी से जांच शुरू करा दी।
श्योराम, उपखंड अधिकारी, नैनवां

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned