बूंदी के बरड़ में अवैध खनन,विधानसभा में गूंजा अवैध खनन का मुद्दा

बूंदी के बरड़ में अवैध खनन का मुद्दा विधानसभा में गूंजा। बूंदी विधायक अशोक डोगरा ने सदन में कहा कि सरकार की शह पर अवैध खनन का काम हो रहा है।

By: pankaj joshi

Published: 05 Mar 2021, 08:55 PM IST

बूंदी के बरड़ में अवैध खनन,विधानसभा में गूंजा अवैध खनन का मुद्दा
विधायक अशोक डोगरा ने कहा : कार्रवाई करने की हिम्मत तक नहीं जुटा रहे अधिकारी
बूंदी. बूंदी के बरड़ में अवैध खनन का मुद्दा विधानसभा में गूंजा। बूंदी विधायक अशोक डोगरा ने सदन में कहा कि सरकार की शह पर अवैध खनन का काम हो रहा है। इसमें मंत्री से लेकर संत्री तक मिले हुए हैं। बूंदी के बरड़ में ऐसा कोई इलाका अछूता नहीं बचा जिसमें इन दिनों अवैध खनन नहीं चल रहा हो। उन्होंने कहा कि इस अवैध कारोबार से न सिर्फ लीज धारकों का नुकसान हो रहा है, बल्कि सरकार को भी करोड़ों रुपए के राजस्व का चूना लग रहा है।
विधायक डोगरा ने सदन को बताया कि बूंदी विधानसभा क्षेत्र की डाबी उपतहसील जिसमें 14 ग्राम पंचायतें आती है। इससे भीलवाड़ा जिले का बिजौलिया क्षेत्र लगा हुआ है। इस खनन क्षेत्र में सेंड स्टोन निकलता है।
इन दिनों बरड़ और इससे लगी सीमा के बिजौलिया में अवैध खनन जोरों पर चल रहा है। जिन्हें कोई रोकने और टोकने वाला नहीं है। बरड़ के थड़ी, काली घाटी, बडपू, पराणा, बुधपुरा, गणेशपुरा, राजपुरा, भवानीपुरा, कंवरपुरा, धनेश्वर, छांटखेड़ा, नरोली सहित आस-पास बेधडक़ अवैध खनन किया जा रहा है। इन इलाकों में खनन माफियाओं ने वन भूमि और सरकारी जमीन तक को नहीं छोड़ा है। अवैध खनन से बिजौलिया भी अछूता नहीं रहा। विधायक डोगरा ने कहा कि इन हालातों को देखकर साफ दिखाई पड़ रहा है कि सरकार ने रॉयल्टी ठेकेदार को बिना रवन्नों के अवैध खनन कराने की अनुमति दे रखी हो। रॉयल्टी ठेकेदार भी मनमाने तरीके से रॉयल्टी वसूल करके अवैध खनन करा रहा है।
अवैध खनन से लीज धारकों का कारोबार ठप सा हो गया है। अवैध खनन करने वाले चांदी कूट रहे हैं। भाजपा विधायक ने सदन में आरोप लगाया कि खनन करने वालों को सरकार के मंत्रियों और कांग्रेस के नेताओं का संरक्षण प्राप्त है।
इन पर किसी प्रकार की प्रभावी कानूनी कार्रवाई नहीं हो रही। कोई अधिकारी इस क्षेत्र में कार्रवाई करने की हिम्मत तक नहीं जुटा रहा है। रात दिन पत्थर काट रहे हैं। इसके लिए करोड़ों रुपए की बड़ी-बड़ी मशीनों को काम ले रहे हैं। क्षेत्र में लगातार प्रदूषण फैल रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार जिम्मेदारों को भेजकर जानकारी जुटाएं, सारी हकीकत सामने आ जाएगी। ‘पत्रिका’ ने उठाया था मुद्दा
बरड़ में अवैध खनन के मामले को हाल ही राजस्थान पत्रिका ने भी उठाया था। 2 मार्च के अंक में ‘बरड़ में बेखौफ फलफूल रहा अवैध खनन’ शीर्षक से खबर प्रकाशित कर बताया था कि अवैध खनन के आगे सब नतमस्तक हैं। क्षेत्र की पुलिस ने आंखें मूंद रखी है। खनि अभियंता और वन विभाग के अधिकारियों ने इस ओर झांकना ही बंद कर दिया है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned