काले कानून के विरोध में किसानों ने निकाली वाहन रैली

केंद्र सरकार की ओर से कृषि के क्षेत्र में लाए गए तीनों काले कानूनों के विरोध में मंगलवार को क्षेत्र के किसानों ने वाहन रैली निकालकर केंद्र सरकार को खुली चेतावनी दी।

By: pankaj joshi

Published: 30 Dec 2020, 08:39 PM IST

काले कानून के विरोध में किसानों ने निकाली वाहन रैली
केशवरायपाटन. केंद्र सरकार की ओर से कृषि के क्षेत्र में लाए गए तीनों काले कानूनों के विरोध में मंगलवार को क्षेत्र के किसानों ने वाहन रैली निकालकर केंद्र सरकार को खुली चेतावनी दी। करीब तीन किलोमीटर लम्बी रैली को देखने के लिए लोग घरों से निकल कर छतों पर आ गए। उपखंड क्षेत्र के किसान ट्रैक्टरों से प्रात: 10 बजे से ही मात्रा हनुमान मंदिर क्षेत्र में इक_े होने लगे थे। दोपहर 12 बजे बाद केंद्र सरकार के विरोध में नारेबाजी करते हुए वाहन रैली शुरू की।
रैली में सबसे आगे किसान खुले वाहन में मोदी सरकार के विरोध में नारेबाजी करते हुए चल रहे थे। इनके पीछे किसान दुपहिया वाहनों व ट्रैक्टरों में सवार थे। वाहन रैली प्रमुख मार्गो से होते हुए सहकारी चीनी मिल चौराहे पहुंची। यहां से वाहनों के साथ रडी चडी के गणेश मंदिर पर पहुंच कर सभा में बदल गई। वाहन रैली के दौरान लोगों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा कर किसानों का स्वागत कर अपना समर्थन जताया। शहर में स्वागत के बाद सरकारी चीनी मिल चौराहा व पंचायत समिति के पास किसानों का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।
पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत
वाहन रैली से यहां यातायात व्यवस्था प्रभावित रही। कहीं जगह पर वाहनों को रोककर रैली को आगे बढ़ाना पड़ा। रैली में 201 ट्रैक्टर, 101 मोटर साइकिलें शामिल थी। रैली का एक छोर सरकारी चीनी मिल चौराहे पर था तो दूसरा छोर पंचायत समिति के सामने था। थाना प्रभारी लखन लाल मीणा के नेतृत्व में पुलिस व्यवस्था बनाती हुई चल रही थी।
सभा में गरजे किसान
किसान विरोधी काले कानून को समाप्त करने की मांग को लेकर आयोजित वाहन रैली के बाद गणेश मंदिर परिसर में सभा आयोजित की गई। जिसमें किसान नेताओं ने मोदी सरकार के विरुद्ध जमकर गुबार निकाले। किसान आंदोलन संघर्ष समिति के अध्यक्ष रामचरण मीणा ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार को काला कानून वापस लेना पड़ेगा, नहीं तो किसान चैन से नहीं रहने देंगे। किसान नेता दिलबाग सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार किसान आंदोलन को विफल करने का षड्यंत्र छोड़े नहीं तो इसके बुरे नतीजे होंगे। किसान नेता लेखराज मीणा, बिट्टू सरदार, राजू सरदार, परमजीत सिंह, दीपक ठाकुर, महावीर, प्रेम शंकर ने भी संबोधित किया।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned