लोगों की बढ़ी चिंता, प्रवासियों को क्वॉरंटीन में रखने की उठी मांग

लॉकडाउन के दो माह बाद अब बूंदी जिले में लगातार दूसरे दिन कोरोना संक्रमित की पुष्टि हुई। दूसरे दिन गुरुवार को कोरोना संक्रमित केशवरायपाटन उपखंड के बालिता गांव में मिला।

By: pankaj joshi

Updated: 29 May 2020, 06:56 PM IST

लोगों की बढ़ी चिंता, प्रवासियों को क्वॉरंटीन में रखने की उठी मांग
शंकरपुरा व बालिता की परिधि जीरो मोबिलिटी घोषित : बूंदी जिले में लगातार दूसरे दिन मिला कोरोना पॉजिटिव

अब तक 1304 सेंपल, 1260 सेंपल नेगेटिव, 02 पॉजिटिव
बूंदी. लॉकडाउन के दो माह बाद अब बूंदी जिले में लगातार दूसरे दिन कोरोना संक्रमित की पुष्टि हुई। दूसरे दिन गुरुवार को कोरोना संक्रमित केशवरायपाटन उपखंड के बालिता गांव में मिला। वह अहमदाबाद से आया था। इससे पहले बुधवार को शंकरपुरा में पहला कोरोना संक्रमित मिली। प्रवासियों के संक्रमित मिलने से जिले के लोगों की चिंता बढ़ गई। दोनों की ट्रेवल हिस्ट्री खंगाली गई। जिसमें ऑटो से गांव पहुंचने की पुष्टि हुई। बालिता में मिला युवक भी ऑटो और ट्रैक्टर की मदद से ही गांव पहुंचा बताया। प्रशासन ने शंकरपुरा और बालिता गांव को जीरो मोबिलिटी घोषित कर दिया। दोनों ही स्थानों पर एहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए।
जिला कलक्टर अन्तर सिंह नेहरा भी शंकरपुरा गांव पहुंचे। उन्होंने शंकरपुरा, दबलाना क्षेत्र का दौरा किया। ब्लॉक स्तरीय क्वॉरंटीन सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक शिवराज मीणा, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार भी साथ थे। बूंदी दो माह से ग्रीन जोन में था। अब पॉजिटिव की संख्या दो दिन में ही 2 हो गई। प्रवासियों के संक्रमित मिलने पर यहां लोगों ने इन्हें क्वॉरंटीन में रखने की आवाज उठाई। बूंदी जिले में अब तक 1304 सेंपल लिए गए। 1260 सेंपल नेगेटिव आ चुके। 34 सेंपल की रिपोर्ट अब आएंगी।
अहमदाबाद से आया कोरोना पॉजिटिव
केशवरायपाटन. उपखंड के बालिता गांव में 23 वर्षीय युवक की जांच रिपोर्ट में गुरुवार को कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई। चिकित्सा प्रभारी मंजू चंदेल ने बताया कि अहमदाबाद में काम करने वाला 23 वर्षीय युवक 23 मई को अहमदाबाद से बस से कोटा पहुंचा। यहां आने के बाद रोगी की स्क्रीनिंग की गई। वह कस्बे से ऑटो लेकर निमोठा गांव गया, जहां से ट्रैक्टर-ट्रॉली से अपने गांव पहुंचा। पता लगने पर बुधवार को सेंपल लिया गया। जिसकी प्रथम जांच रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव निकली। उसे इलाज के लिए देर शाम कोटा मेडिकल कॉलेज भेजा गया।
6 दिन गांव में ही रहा
अहमदाबाद से आने के बाद कोरोना पॉजिटिव रोगी 23 मई से ही गांव में था। वह वहां एक दुकान पर सामान लेने भी गया। अपने भाई के साथ वह बुधवार को जांच करवाने केशवरायपाटन आया। यहां से जांच करने के बाद वापस घर पर चला गया। वह घर पर ही रहा। गांव में कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद अफरा-तफरी मच गई।
अधिकारी पहुंचे बालिता
बालिता गांव में गुरुवार को ब्लॉक मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी जितेंद्र सिहरा, डिप्टी दीपक गर्ग, तहसीलदार प्रमोद कुमार, थाना प्रभारी लखन लाल मीणा पहुंचे। प्रशासन ने गांव को जीरो मोबिलिटी घोषित कर दिया। संक्रमित पाए जाने के बाद गांव को चारों तरफ से सील कर वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिया। लोगों को अपने ही घरों में रहने के निर्देश दिए। रोगी के परिवार को क्वॉरंटीन कर उसके संपर्क में आने वाले दुकानदार व वाहन चालकों की भी जांच करवाई जाएगी।
19 जनों के सेंपल लिए, घर-घर स्क्रीनिंग
हिण्डोली. दबलाना. शंकरपुरा में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद यहां आस-पास के क्षेत्र को गुरुवार को जिला कलक्टर ने शून्य मोबिलिटी क्षेत्र घोषित कर दिया। इस क्षेत्र में व्यक्तियों एवं वाहनों का आवागमन बंद रहेगा। चिकित्सक दलों ने गुरुवार को भवानीपुरा के सेंटर में कार्यरत 6 जनों के स्टाफ, नागपुर से आए चार जनों व महिला के संपर्क में आए कुल 19 जनों का सेंपल लिया। बूंदी, हिण्डोली व दबलाना के चिकित्सक दल सुबह ही शंकरपुरा पहुंच गए थे। यहां डोर टू डोर सर्वे शुरू किया। सीएमएचओ डॉ. गोकुलराम मीणा, ब्लॉक सीएमओ डॉ. जगबीर सिंह, डॉ आशीष अग्रवाल, दबलाना स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. एस.के. सोनी, दबलाना नायब तहसीलदार रामसिंह मीणा आदि मौजूद रहे।
14 जने हिण्डोली शिफ्ट
गुरुवार को 19 जनों के सेंपल लेने के बाद भवानीपुरा के क्वॉरंटीन सेंटर में रह रहे 14 जनों को 108 एम्बुलेंस से हिण्डोली के देवनारायण छात्रावास में क्वॉरंटीन किया।
ऑटो चालक को किया क्वॉरंटीन
चिकित्सा विभाग के सूत्रों ने बताया कि सोमवार को जिस ऑटो में बैठकर महिला बूंदी से शंकरपुरा पहुंची थी। उस ऑटो चालक का पता लगाकर उसे क्वॉरंटीन कर दिया। ऑटो चालक बूंदी का था।
मां पॉजिटिव, दोनों बेटे नेगेटिव
शंकरपुरा निवासी पॉजिटिव महिला के दोनों बच्चे जांच के दौरान नेगेटिव मिले। सीएमएचओ ने बताया कि सोमवार को महाराष्ट्र से चार जने शंकरपुर आए थे। जिनमें एक महिला और उसके दो पुत्र शामिल थे। मंगलवार को महिला व पुरुष के दोनों पुत्रों की जांच की तो बुधवार शाम को महिला पॉजिटिव मिली। दोनों पुत्रों की जांच नेगेटिव आई।
शंकरपुरा व आसपास के क्षेत्र को जीरो मोबिलिटी क्षेत्र घोषित कर दिया। बेरिकेड्स लगवा दिए। आवागमन बंद कर दिया। यहां पुलिस की कड़ी नजर रहेगी।
केसरी सिंह, तहसीलदार, हिण्डोली

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned