कोटा-दौसा मेगा स्टेट हाइवे निर्माण में छोड़ी खामियों का मुद्दा विधानसभा में गूंजा

बूंदी जिले की सीमा से गुजर रहे कोटा-दौसा मेगा स्टेट हाइवे के निर्माण में छोड़ी गई खामियों का मुद्दा विधानसभा में गूंजा।

By: pankaj joshi

Updated: 01 Mar 2020, 04:30 PM IST

कोटा-दौसा मेगा स्टेट हाइवे निर्माण में छोड़ी खामियों का मुद्दा विधानसभा में गूंजा
- केशवरायपाटन विधायक ने कहा : सडक़ों पर दौड़ते यमदूत रुकने चाहिए
बूंदी. बूंदी जिले की सीमा से गुजर रहे कोटा-दौसा मेगा स्टेट हाइवे के निर्माण में छोड़ी गई खामियों का मुद्दा विधानसभा में गूंजा।चंद्रकांता मेघवाल ने कहा कि हाइवे पर ऐसा कोई दिन नहीं जाता जब हादसा नहीं हो रहा। अब तक सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी।
लाखेरी मेज नदी हादसा भी इसी का परिणाम रहा। विधायक ने सदन को बताया कि हाइवे बनने के बाद भी मेज नदी पर पुलिया का निर्माण नहीं कराया गया।पुलिया पर मात्र लीपापोती कर छोड़ दिया गया।उन्होंने कहा कि कापरेन की सुनेंगे और वहां की घटना के बारे में पूछेंगे तो पता लगेगा कि बायपास देते समय मात्र पांच फीट की जगह में छोटा सा एक डिवाइडर बना दिया। एक लाइट खड़ी कर दी। इस स्थान पर कई हादसे हो चुके। उन्होंने हाइवे के पुनर्निर्माण की मांग सदन में रखी। जिससे कि फिर कोई हादसा नहीं हो।
विधायक ने सडक़ों पर दौड़ रहे अनफिट वाहनों पर रोक लगाने की मांग की।विधायक ने सदन में इन वाहनों को यमदूत बताया। ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए मेघवाल ने टास्क फोर्स गठन की बात रखी। विधायक की इस मांग का सदस्य राजेन्द्र राठौड़ ने भी समर्थन किया। उन्होंने कहा कि पूरा राजस्थान शर्मसार हुआ। कितने जनों की जिंदगी गई। कबाड़ गाडियों को सडक़ों पर दौडऩे से हर हाल में रोकना चाहिए।
एसीसी फैक्ट्री में भर्ती रोकने का उठाया मुद्दा
विधायक मेघवाल ने लाखेरी की एसीसी फैक्ट्री में स्थानीय लोगों को रोजगार दिलाने का मुद्दा भी सदन में रखा। उन्होंने कहा कि फैक्ट्री प्रबन्धन ने नई भर्तियों को रोक दिया। जिससे बेरोगारी कम नहीं हो रही। उद्योग ने ठेका प्रथा शुरू कर दी। जिससे फैक्ट्री में स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिल रहा। उन्होंने आस-पास के क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन को रोकने की मांग भी सदन में रखी। उन्होंने कहा कि आस-पास की ब्लास्टिंग की जांच सरकार एजेंसी से कराए।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned