श्रम कानूनों से छेड़छाड़ बंद करो, संयुक्त टे्रड यूनियन समन्वय समिति (सीटू) ने सौंपा पत्र

केंद्रीय श्रम संगठनों के आह्वान पर राष्ट्रीय प्रतिरोध दिवस पर शुक्रवार को संयुक्त टे्रड यूनियन समन्वय समिति (सीटू) ने 12 सूत्रीय मांग पत्र मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को सौंपा।

By: pankaj joshi

Updated: 23 May 2020, 08:41 PM IST

श्रम कानूनों से छेड़छाड़ बंद करो, संयुक्त टे्रड यूनियन समन्वय समिति (सीटू) ने सौंपा पत्र
बूंदी. केंद्रीय श्रम संगठनों के आह्वान पर राष्ट्रीय प्रतिरोध दिवस पर शुक्रवार को संयुक्त टे्रड यूनियन समन्वय समिति (सीटू) ने 12 सूत्रीय मांग पत्र मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को सौंपा।
पत्र में बताया कि मौजूदा सरकार श्रम कानूनों में फेरबदल कर मजदूर विरोधी नीतियां लागू कर रही। साथ ही श्रम कानूनों के साथ छेड़छाड़ बंद कर १२ घंटे काम के कानून को वापस लिया जाए। बजरी पर लगी रोक को हटाया जाए। घोषित लॉकडाउन के दौरान तीन माह के बिजली के बिल माफ हों। पंजीकृत मजदूरों को ७५०० रुपए प्रति माह अगले तीन माह तक सरकार की ओर से दिए जाएं, सभी निर्माण श्रमिकों को राशन डीलर के माध्यम से खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई जाए। इस दौरान बिल्ंिडग पेंटर्स यूनियन सीटू अध्यक्ष सुरेश कुमार वर्मा, बीडी मजदूर यूनियन अध्यक्ष रजिया खान, हाड़ौती निर्माण श्रमिक यूनियन जिला संयोजक शिव हरियाणा, बाबूलाल बैरवा आदि मौजूद थे।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned