नहीं हो रहा माल का लदान, ठसाठस हुई मण्डी

स्थानीय कृषि उपज मंडी में एफसीआई के गेहंू खरीद केंद्र पर मजदूरों की कमी होने और लदान की व्यवस्था गड़बड़ाने से खरीद केंद्र पर आने वाले किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं।

By: Narendra Agarwal

Updated: 24 May 2020, 10:50 AM IST

कापरेन. स्थानीय कृषि उपज मंडी में एफसीआई के गेहंू खरीद केंद्र पर मजदूरों की कमी होने और लदान की व्यवस्था गड़बड़ाने से खरीद केंद्र पर आने वाले किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। कट्टों का उठाव नहीं होने से मंडी परिसर में कट्टो से ठसाठस भर हुआ है और जगह जगह स्टैग लगाने के बाद भी परिसर में गेहंू लेकर पहुंच रहे किसानों को ढेर करने के लिए जगह नहीं मिल रही हैं। शनिवार को भी मंडी में जगह नहीं होने से गेहंू लेकर पहुंचे किसानों की 17 ट्रैक्टर ट्रॉलियां सुबह से दोपहर तक हाइवे किनारे खड़ी रही और दोपहर बाद कुछ ट्रकों के पहुंचने पर लदान करवाया। इससे परिसर में कुछ जगह होने के बाद शाम चार बजे करीब ढेर करवाए गए।
जानकारी के अनुसार मंडी परिसर में तुले हुए कट्टों का उठाव नहीं होने और मजदूरों की कमी होने से किसानों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा हैं। किसानों ने उठाव व लदान की उची व्यवस्था करने की मांग की है। एफसीआई के गुणवत्ता प्रभारी नवीन कुमार ने बताया कि यहां से गेहूं डूंगरपुर व हमीरगढ़ भेजा जा रहा है तथा वहां से खाली होकर गाडिय़ां वापस आने में एक सप्ताह लग जाता है।

वहीं इस बार लॉक डाउन होने से बाहरी मजदूरों की भी कमी हो रही है। फिर भी केंद्र पर रोज का माल की रोज तुलाई करवाई जा थी है। रविवार व सोमवार को अवकाश घोषित होने व इन दिनों के टोकन जारी नहीं होने से माल उठाव हो जाएगा। इससे परिसर में पर्याप्त जगह हो जाएगी। केंद्र पर अब तक 2 लाख 61 हजार कट्टों की तुलाई हो चुकी हैं तथा 21 मई तक का किसानों को भुगतान किया जा चुका है।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned