अपूर्ण कार्यों को 30 जून तक करवाए पूरा

महात्मा गांधी नरेगा योजना में कार्यों की स्थिति की समीक्षा बैठक गुरुवार को जिला परिषद स्थित कक्ष में मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार की अध्यक्षता में हुई।

By: Narendra Agarwal

Published: 11 Jun 2021, 06:03 PM IST

बूंदी. महात्मा गांधी नरेगा योजना में कार्यों की स्थिति की समीक्षा बैठक गुरुवार को जिला परिषद स्थित कक्ष में मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार की अध्यक्षता में हुई।
सीइओ प्रतिहार ने लाइन विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों से महात्मा गांधी नरेगा योजना की कार्यवार समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि वित्तीय वर्ष 2020-21 से पूर्व के प्रगतिरत कार्यों को 30 जून तक पूर्ण करवाए। व्यय की गई राशि के उपयोगिता एवं पूर्णता प्रमाण पत्र आगामी 3 दिवस में संबंधित पंचायत समिति को उपलब्ध करवाए। कार्यों के संबंध में किसी भी प्रकार की समस्या आने पर लाइन विभाग के सक्षम अधिकारी ब्लॉक अथवा जिला स्तर पर सक्षम अधिकारी से सीधे सम्पर्क कर समय पर समस्याओं का निस्तारण करवाए। उन्होंने बाघ परियोजना रणथंभौर के वनाधिकारी से कहा कि अधिकार क्षेत्र की ग्राम पंचायत मोहनपुरा व सुमेरगंजमंडी में नरेगा के तहत जॉबकार्डधारी परिवारों को रोजगार उपलब्ध करवाए। इसके लिए न्यूनतम 5-5 कार्यों पर श्रमिक नियोजन किया जाए।
सीइओ ने विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि आगामी 3 दिवस में जिले के न्यूनतम 60 हजार परिवारों को महात्मा गांधी नरेगा योजना से जोड़े। कार्य स्थल पर श्रमिकों से कोराना गाइड लाइन की पालना गंभीरता से करवाए। मानसून आने पर पौधारोपण के लिए बड़े पौधों का चयन प्राथमिकता से करें। पौधारोपण सामूहिक करवाया जाए। प्रत्येक ब्लॉक में न्यूनतम 5-5 चरागाह विकास के कार्य मॉडल के रूप में करवाए।
इस दौरान अधीक्षण अभियंता वॉटरशेड सी.एल. सालवी, एक्सइएन नरेगा प्रियव्रत सिंह, एक्सइएन पीडब्ल्यूडी बूंदी राजीव जैन, एक्सइएन पीडब्ल्यूडी लाखेरी सतीश सिंगल, एक्सइएन इंजिनियरिंग जितेन्द्र न्याती, सहायक वन संरक्षक सी.एम. गुप्ता, नैनवां के विकास अधिकारी जतन सिंह गुर्जर, हिण्डोली के नरेन्द्र मीणा, केपाटन के महेन्द्र मेहता आदि मौजूद थे।

Show More
Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned