दलालों और एजेंट्स के चंगुल से मुक्त होंगे प्रदेश के परिवहन कार्यालय

परिवहन विभाग कार्यालय का स्वरूप बदला बदला सा नजर आएगा। फ्रंट मैनेजमेंट सिस्टम के जरिए प्रदेश के परिवहन विभाग की कार्यशैली और कार्यालयों में जल्द ही बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा।

By: pankaj joshi

Updated: 26 Dec 2020, 06:20 PM IST

दलालों और एजेंट्स के चंगुल से मुक्त होंगे प्रदेश के परिवहन कार्यालय
फ्रंट ऑफिस मैनेजमेंट सिस्टम से लैस होंगे
सभी काम ऑनलाइन, परिवहन कार्यालय के चक्कर काटने से मिलेगी मुक्ति
वाहन मालिकों और आमजन को होगी आसानी
बूंदी. परिवहन विभाग कार्यालय का स्वरूप बदला बदला सा नजर आएगा। फ्रंट मैनेजमेंट सिस्टम के जरिए प्रदेश के परिवहन विभाग की कार्यशैली और कार्यालयों में जल्द ही बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। इस सिस्टम से प्रदेशभर के परिवहन कार्यालय लैस होंगे। इसके बाद आमजन के अधिकतर कार्य बिना मध्यस्थ के ऑनलाइन या सीधे हो सकेंगे। परिवहन विभाग के कार्यालयों के बाहर एजेंट्स और दलालों का जमावड़ा छंट जाएगा।
कार्यालयों के आस-पास रहने वाले दलालों और एजेंट्स के चक्कर में भ्रष्ट्राचार के भी आरोप लग रहे थे। कार्यालयों में भी इनकी दखल अंदाजी बढऩे की शिकायतें थी, अब जल्द ही यह सब खत्म हो जाएगा। विभाग पासपोर्ट विभाग की तरह टाइप फ्रंट ऑफिस मैनजमेंट सिस्टम लागू कर रहा। इस सिस्टम से वाहन मालिकों और आमजन को सारी जानकारी व प्रक्रिया आसानी से मिल सकेगी। कर व परमिट के काम ऑनलाइन हो सकेंगे। ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन टेस्ट व परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए भी अब कैमरों के सामने टेस्ट होने के बाद रिजल्ट मिलेगा।
फ्रंट ऑफिस मैनेजमेंट में ड्राइविंग लाइसेंस, व्हीकल रजिस्ट्रेशन, व्हीकल फिटनेस, चालान कंपाउंडिग सहित सभी काम ऑनलाइन होंगे। जानकार सूत्रों के अनुसार पासपोर्ट टाइप फ्रंट ऑफिस मैनेजमेंट सिस्टम के लिए कंसलटेंट नियुक्त कर दिए। जल्दी इसकी निविदा तैयार कर यह काम पायलट प्रोजेक्ट के तहत सभी आरटीओ ऑफिस में शुरू किए जाएंगे। इसके बाद इसे हर जिला परिवहन कार्यालय में लागू कर दिया जाएगा।
आवेदन भी ऑनलाइन हो सकेंगे
विभाग 6 हजार करोड़ के राजस्व का लक्ष्य पूरा करने में लगा है। लक्ष्य को मार्च तक पूरा करना है। हालांकि कोरोना के चलते इसमें देरी हो गई है, लेकिन अब इसे पूरा करने के लिए हर दिन मॉनिटरिंग करवा रहे हैं। फ्रंट ऑफिस मैनजमेंट सिस्टम से ड्राइविंग लाइसेंस, व्हीकल रजिस्ट्रेशन, व्हीकल फिटनेस, चालान कंपाउंडिग सहित सभी कामकाज के लिए आवेदन ऑनलाइन अपॉइंटमेंट ले सकेंगे। इसके अलावा अन्य जानकारी के लिए भी यहां पर विशेषज्ञ मौजूद रहेंगे।
यह घोषणा बजट में की गई थी
फ्रंट मैनेजमेंट सिस्टम को अमलीजामा पहनाने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई। इस सिस्टम से वाहन चालकों और वाहन मालिकों को किसी भी काम के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं होगी। सारी जानकारी और सारी फॉरमेलिटीज इन जगहों पर पूरी होगी। इसके बाद ही डीटीओ और आरटीओ ऑफिस में बिना कोई परेशानी के कोई भी सीधा काम करवा सकेंगे। इसके अलावा टैक्स और परमिट जैसे काम भी आनलाइन होंगे। घर पर बैठे-बैठे ही सारे काम करवाए जा सकेंगे।
फ्रंट मैनेजमेंट सिस्टम लागू होने से कार्यालय ऑनलाइन हो जाएगा। इस सिस्टम के जरिए आमजन को कार्यालय तक भी आने की जरूरत नहीं होगी। घर पर बैठे-बैठे ही सारे काम करवाए जा सकेंगे।
सुधीर बंसल, जिला परिवहन अधिकारी, बूंदी

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned