लापरवाही की हो रही हद, लॉकडाउन में मिली छूट तो लोग भूल गए मास्क लगाना

बूंदी से 35 किलोमीटर दूर कोटा में भले ही कोरोना पॉजिटिव की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा हो, लेकिन बावजूद इसके बूंदी जिले के कई लोग सावधानी नहीं बरत रहे।

By: pankaj joshi

Published: 03 Jun 2020, 06:58 PM IST

लापरवाही की हो रही हद, लॉकडाउन में मिली छूट तो लोग भूल गए मास्क लगाना
बूंदी. बूंदी से 35 किलोमीटर दूर कोटा में भले ही कोरोना पॉजिटिव की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा हो, लेकिन बावजूद इसके बूंदी जिले के कई लोग सावधानी नहीं बरत रहे। बूंदी के बाजार क्या खुले सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क पहनने की शर्त ही भूल गए। लापरवाही की हद यह दिखी कि कई वाहन चालकों व राहगिरों के साथ दुकानदारों ने कहने के लिए मास्क लगा रखा था, लेकिन उसे सिर्फ औपचारिकता के लिए गले में बांध लिया। ऐसे में संक्रमण का खतरा खुलकर मंडराता दिखा।
देश-प्रदेश में लागू लॉकडाउन में लोगों की परेशानी को देखते हुए कोरोना संक्रमण के खतरे से बचने के लिए कई आवश्यक शर्तों के साथ छूट दी गई थी, लेकिन बाजारों में भीड़ उमडऩे लगी। छूट का लोग बेजवह फायदा उठाने लग गए। कई लोग तो फिर से बेवजह ही बाजारों में तफरीह करने लग गए। कई दुकानों पर भी सैनेटाइजर व सोशल डिस्टेंसिंग की अवेहलना दिखी। हालांकि कुछ बाजारों में लोग इसकी पालना करते भी दिखे।
मास्क का दिखावा
लॉकडाउन में लोगों की परेशानी को देखते हुए दुकानों को खोलने की छूट और खरीदारी के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क लगाने की कड़ाई से पालना के निर्देश हैं। इसके बावजूद लोग पालना महज दिखावे के लिए कर रहे हैं। छूट मिलते ही लॉकडाउन में छूट के लिए जारी एडवाइजरी को भुलाया जा रहा है। मंगलवार को पत्रिका टीम ने बाजारों का जायजा लिया तो हालात सही नहीं दिखे। इस दौरान बाजार में आने वाले कई लोगों ने मास्क नहीं लगाए हुए थे। गली-मोहल्लों सहित इंद्रा मार्केट, कोटा रोड, सब्जी मंडी रोड, सदर बाजार आदि स्थानों पर लोगों की भीड़ रही। लग रहा था, जैसे छूट मिलते ही कोरोना वायरस का खतरा खत्म हो गया हो। बाजारों में पुलिस जरूर लोगों को टोकती दिखी।
आदेशों की अक्षरश: पालना कराएं
जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट ने राजस्थान महामारी अध्यादेश 2020 की धारा 4 के तहत कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए नियमों की पालना कराने के लिए अर्थ दण्ड तथा सभी कार्यपालक मजिस्ट्रेट के साथ-साथ सहायक पुलिस उप निरीक्षक एवं उच्च स्तर के पुलिस अधिकारियों, राजस्व निरीक्षक से निम्न रैंक के नगर परिषद, नगर पालिका के सभी अधिकारियों को अपनी-अपनी अधिकारिता के भीतर प्राधिकृत किया। कारोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी की गई एडवाजरी के अनुसार नियमों की अवहेलना करने वालों को अर्थदण्ड से दण्डित करने के लिए नियुक्त अधिकारी आदेशों की अक्षरश: पालना करेंगे। साथ ही आदेशों में किसी भी तरह की लापरवाही होने पर संबंधित के विरुद्ध भी कार्रवाई होगी।
यह होगा अर्थ दण्ड
सार्वजनिक स्थानों एवं कार्य स्थल पर फेस मास्क या फेस कवर नहीं पहनने पर 200 रुपए, दुकानदार के बिना मास्क या फेस कवर पहले व्यक्ति को वस्तु बेचने पर 500 रुपए, सार्वजनिक स्थान पर थूकने पर 200 रुपए, सार्वजनिक स्थान पर शराब, पान, गुटखा, तम्बाकू का उपभोग करते पाए जाने पर 500 रुपए, सार्वजनिक स्थानों पर सामाजिक दूरी (न्यूनतम 6 फीट दूरी) नहीं रखने पर 100 रुपए, उपखण्ड मजिस्ट्रेट को लिखित में पूर्व सूचना दिए बिना विवाह से संबंधित समारोह या जमाव का आयोजन करने व समारोह में सामजिक दूरी बनाकर नहीं रखने पर 5 हजार रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा।
विवाह व समारोह ही अनुमति जरूरी
विवाह से संबंधित समारोह आयोजन में 50 से अधिक व्यक्ति होने पर 10 हजार रुपए का जुर्माना होगा। इसके लिए उपखंड मजिस्ट्रेट को लिखित सूचना देनी होगी।
गाइडलाइन को किया दरकिनार
सरकार की ओर से लॉकडाउन में दुकानें खोलने की छूट देने के बाद दुकानदार अपनी दुकानें खोलने लग गए। दुकान खोलने और खरीदारी के लिए एडवायजरी जारी होने के बावजूद अधिकांश लोग सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइन की पालना नहीं कर रहे। लोग सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखे बिना ही सामान खरीद रहे। दुकानों के आगे हैंडवॉश व सैनेटाइजर अभी भी अधिकतर ने नहीं रखे।
दिखावा नहीं पालना करें
सरकारें कितने ही निर्देश जारी कर दें, लेकिन उसकी सफलता के लिए जनता का सहयोग जरूरी होगा। लॉकडाउन में जारी सरकारी दिशा-निर्देश खुद जनता की सुरक्षा के लिए बने हैं। ऐसे में अपनी ही सुरक्षा को अनदेखा नहीं किया जाना चाहिए। घरों में रहकर ही कोरोना को हराया जा सकता है। जरूरी काम से बाहर जाना भी हो, तो सुरक्षा मानकों की पालना करनी होगी।
‘पुलिस टीम लोगों की सुरक्षा के लिए ही लगातार शहर में मुनादी कर मास्क की अनिवार्यता और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करवा रही है। मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर समझाइश भी की जा रही है। नहीं मानने पर अब चालान बनाने संबंधित कार्रवाई शुरू करेंगे। व्यापारी व आमजन को खुद भी सजग रहकर इसकी पालना करनी चाहिए।
शिवराज मीना, पुलिस अधीक्षक, बूंदी

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned