अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने देखा नैनवां के तालाबों का केचमेंट एरिया

जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ नगरपालिका प्रशासन व जनप्रतिनिधियों ने गुरुवार को केचमेंट एरिया में घूमकर नैनवां के दोनों तालाबों कनकसागर व नवलसागर तालाबों में अवरुद्ध पानी की आवक को देखा। पानी की आवक के रास्ते बंद होने से दोनों तालाब कई वर्षों से खाली रह जाने का दंश झेल रहे हैं।

By: pankaj joshi

Published: 28 May 2021, 09:36 PM IST

अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने देखा नैनवां के तालाबों का केचमेंट एरिया
अवरुद्ध आवकों की सफाई के लिए दिए 108 लाख रुपए के प्रस्ताव
राज्य मंत्री चांदना के निर्देश पर आए
नैनवां. जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ नगरपालिका प्रशासन व जनप्रतिनिधियों ने गुरुवार को केचमेंट एरिया में घूमकर नैनवां के दोनों तालाबों कनकसागर व नवलसागर तालाबों में अवरुद्ध पानी की आवक को देखा। पानी की आवक के रास्ते बंद होने से दोनों तालाब कई वर्षों से खाली रह जाने का दंश झेल रहे हैं। खेल राज्य मंत्री अशोक चांदना के निर्देश पर जल संसाधन विभाग के अधिकारी मौका देखने पहुंचे। जलसंसाधन विभाग ने दोनों तालाबों में रास्तों को खोल कर आवक बढ़ाने का कार्य कराने के लिए 108 लाख के प्रस्ताव बनाकर नगरपालिका को दे दिए। इनमें नवलसागर तालाब का 52 लाख रुपए व कनकसागर तालाब का 56 लाख रुपए का प्रस्ताव शामिल है। जलसंसाधन विभाग के अधिशासी अभियंता आरके पाटनी, सहायक अभियंंता जम्बूकुमार जैन, कनिष्ठ अभियंंता बद्रीलाल सेन, नगरपालिका के उपाध्यक्ष आबिद हुसैन, पार्षद राजेश गुर्जर, राजकुमार गुर्जर, ओमप्रकाश गुर्जर, नबील अंसारी, जितेन्द्र बैरवा, युवराज गुर्जर, नगरपालिका के कनिष्ठ अभियंता साथ थे।
सभी आवक अवरुद्ध मिली
जल संसाधन विभाग के अधिकारियों का मानना है कि तालाबों में पानी की आवक वाले केचमेंट एरिया में स्थित चरागाह व सिवायचक भूमि आवक बढ़ाने के लिए खुदाई फीडरों पर अतिक्रमियों ने मिट्टी के चेक डेम बनाकर आवक में बाधा खड़ी कर रखी है। दूसरी बाधा एनएच 148 डी के निर्माण के के दौरान तालाबों के केचमेंट एरिया में ही मिट्टी व झींकरा की खुदाई से हो गई। पुलिया के नीचे भी नालों में अवरूद्ध पैदा कर दिए। निर्माण कम्पनी ने केचमेंट एरिया में किए खनन से गहरी खाइयां खोद दी। जिससे तालाबों में पानी की आवक ठहर गई। हनुवंतपुरा व बीजलबा रोड पर लगभग तीन से चार किमी वर्ग क्षेत्र में खनन हो रहा है। कनकसागर में पानी की आवक बढ़ाने के लिए भावपुरा, पांडुला व सुवानियां फीडरों का निर्माण हो रहा है। तीनों गांवों के माळ के पानी की आवक फीडरों के माध्यम से तालाब की ओर मुड़ तो रहा है। पानी तालाब तक पहुंचे उसे पहले ही अतिक्रमियों ने फीडरों के पानी को चेक डेम में रोक लिया जाता है। नवलसागर तालाब में भी पानी की आवक बढ़ाने के लिए तालाब के तीन गांवों बीजलवा, चैनपुरिया व हनुवंतपुरा के माळ के पानी को तालाब की ओर मोडऩे के लिए बीजलवा फीडर का निर्माण हो रहा है। फीडर का रास्ता कई जगह अतिक्रमण से अवरुद्ध हो रहा है। लेागों ने फीडर को ही तोडकऱ तालाब में आने वाले को खेतों में ही रोक लिया जाता है।
अधिशासी अभियंता का कहना
जल संसाधन विभाग के अधिशासी अभियंता आरके पाटनी ने बताया कि खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना के निर्देश पर दोनों तालाबों में बंद पड़ी पानी की आवकों का मौका देख लिया। पूरे आवक ही अवरूद्ध पड़ी है। आवकों को खुलवाने के लिए कच्चा व पक्का काम कराने के लिए नगरपालिका को 108 लाख रुपए का प्रस्ताव दे दिया है। कार्य नगरपालिका को ही करवाना है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned