बिजली मांग रहे किसानों पर मुकदमे बर्दाश्त नहीं, सिलोर व नमाना क्षेत्र के ग्रामीण जुटे

ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू एवं कृषि की अघोषित बिजली कटौती का विरोध करते किसानों पर दर्ज मुकदमों को लेकर मंगलवार को यहां विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में सिलोर-नमाना क्षेत्र की ग्राम 8 ग्राम पंचायतों के ग्रामीण शामिल हुए।

By: pankaj joshi

Published: 15 Sep 2021, 08:26 PM IST

बिजली मांग रहे किसानों पर मुकदमे बर्दाश्त नहीं, सिलोर व नमाना क्षेत्र के ग्रामीण जुटे
बूंदी. ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू एवं कृषि की अघोषित बिजली कटौती का विरोध करते किसानों पर दर्ज मुकदमों को लेकर मंगलवार को यहां विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में सिलोर-नमाना क्षेत्र की ग्राम 8 ग्राम पंचायतों के ग्रामीण शामिल हुए।
आंदोलन के संयोजक भाजपा नेता रूपेश शर्मा ने बिजली निगम व सरकार को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में बिजली निगम आम लोगों को सुनने की जगह अगर किसानों के विरुद्ध मुकदमें दर्ज कराने लगा तो फिर ऐसे में बूंदी की धरती पर आंदोलन का बड़ा कदम उठाया जाएगा। इस मामले में अब आगे किसी भी किसान और जवान की गिरफ्तारी हुई तो किसान बड़ा आंदोलन करेंगे। शर्मा ने कृषि व घरेलू बिजली की कटौती को लेकर सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि रात में अंधेरा रहने से ग्रामीणों को जहरीले कीड़ों का शिकार होना पड़ रहा है। ऐसे में इस व्यवस्था में जल्द सुधार हों।
प्रदर्शन जिला कलक्ट्रेट के मुख्य गेट के समक्ष किया। इससे पहले सभी हायर सैकण्डरी स्कूल मैदान में एकत्र हुए, जहां किसानों ने सभा की। किसान जुलूस के रूप में पुलिस अधीक्षक कार्यालय के बाहर जमा होने वाले थे, लेकिन ऐन वक्त पर पुलिस अधीक्षक शिवराज मीना के जिला कलक्ट्रेट में मौजूद होने की सूचना से सभी इस ओर मुड़ गए। प्रदर्शन के बाद प्रतिनिधि मंडल ने जिला कलक्टर आशीष गुप्ता व पुलिस अधीक्षक मीना को अलग-अलग ज्ञापन सौंपे। प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में पुलिस जाब्ता तैनात रहा।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned