एसआई बनने की राह में परेशानी बनी रोडवेज बसें

पुलिस की एसआई भर्ती परीक्षा के लिए एक जिले से दूसरे जिले में जा रहे परीक्षार्थियों को रविवार रात बूंदी के बस स्टैंड में काफी मशक्कत करनी पड़ गई।

By: pankaj joshi

Published: 13 Sep 2021, 09:40 PM IST

एसआई बनने की राह में परेशानी बनी रोडवेज बसें
देर रात तक बस स्टैंड पर परीक्षार्थियों की दिखा हुजूम
चार से पांच घंटे परेशान हुए परीक्षार्थी
कोरोना गाइडलाइन की उड़ी धज्जियां
बूंदी. पुलिस की एसआई भर्ती परीक्षा के लिए एक जिले से दूसरे जिले में जा रहे परीक्षार्थियों को रविवार रात बूंदी के बस स्टैंड में काफी मशक्कत करनी पड़ गई। हुआ यों कि सोमवार को एसआई भर्ती की परीक्षा होनी है, इसके लिए सभी जिलों में विद्यार्थियों के सेंटर आए, लेकिन बूंदी के रोडवेज बस स्टैंड में बसें नहीं मिलने से देर रात तक परीक्षार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ गया। समूचे बस स्टैंड परिसर में भीड़ बढ़ गई। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। इधर, भर्ती परीक्षा में जाने के लिए मशक्कत कर रहे छात्र-छात्राओं की समस्या सुन छात्रनेता प्रभात जैन व सामाजिक कार्यकर्ता पीयूष शर्मा बस स्टैंड पहुंचे और परीक्षार्थियों की समस्या को लेकर रोडवेज प्रबंधन से मिले। उन्होंने बसें लगाने का आश्वासन दिया। मुख्य प्रबंधक रेणु देवड़ा ने बताया कि परीक्षा को देखते हुए 6 बसें अतिरिक्त चलाई गई थी। अचानक परीक्षार्थियों की तादात बढ़ गई। कोटा डिपो से बसों के लिए सम्पर्क किया गया। रात में दो बसें और चलाई गई।
बूंदी जिले के कई अभ्यार्थियों का अलग-अलग जिलों में सेंटर आए थे। जिसके लिए कई परीक्षार्थी रात में ही दूर-दराज जिले में जाने के लिए बस स्टैंड पहुंचे, लेकिन चार से पांच घंटे से अधिक समय तक रोडवेज बसें नहीं मिलने से वह परेशान हो गए। इस पर छात्र नेता ने मुख्य प्रबंधक को जल्द बसों की व्यवस्था करने को कहा, नहीं करने पर रोड जाम की चेतावनी दे डाली। हालांकि परीक्षार्थियों ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा परीक्षार्थियों के लिए रोडवेज में नि:शुल्क सफर का अवसर दिया गया, लेकिन रोडवेज प्रशासन द्वारा इसको लेकर गंभीरता नहीं बरती गई।
छात्र नेता जैन ने बताया कि इसमें प्रशासन की भी लापरवाही रही। बढ़ी संख्या बस स्टैंड में मौजूद परीक्षार्थियों को काफी मशक्कत करनी पड़ गई। कुछ देर बाद जैसे तैसे बस लगी तो उसमें भीड़ उमड़ पड़ी। परीक्षा देने जा रहे छात्र-छात्रों को परेशान होना पड़ गया। छात्र देवेंद्र चौहान, लखन लाल प्रजापत, अंशुल योगी व छात्रा सारिका मेघवाल ने बताया कि चार-पांच घंटे हो गए हैं, यहां रोडवेज बस स्टैंड से बसों की सम्पूर्ण व्यवस्था नहीं की गई और जो कोटा से गाड़ी आ रही है, उसमें सीट नहीं मिल रही। नैनवां रोड के ऋतिक जैन ने बताया कि परीक्षा देने जयपुर जाना है, लेकिन अभी तक बस आने का कोई पता नहीं है। परीक्षा केंद्र में सुबह 8 बजे तक पहुंचना है। वहीं बूंदी के गिर्राज भाटी ने बताया कि बस की व्यवस्था नहीं मिलने से बायपास पहुंचे, जहां निजी बस वालों ने किराया डबल बताते हुए स्लीपर के 1400 रुपए मांगे, वापस बस स्टैंड आ गया। जयपुर नंबर आया है। बस का इंतजार कर रहा हूं। वहीं छात्राओं ने बताया कि वो इस भीड़ में कैसे सफर करेगी, सभी छात्राओं ने रोष रहा।
कोटा से आई बसें भी फुल रही
कोटा से आई बसें भी परीक्षार्थियों से भरी नजर आई। ऐसे मेें यहां बस स्टैंड पर बसों के इंतजार में बैठे परीक्षार्थियों को लंबा इंतजार करना पड़ गया। कोटा से आई बसों के सामने परीक्षार्थियों ने विरोध जताया। मौके पर मौजूद पुलिस को भी मशक्कत करनी पड़ी।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned