पंचायत समिति की बैठक में जनप्रतिनिधियों ने जताया रोष

पंचायत समिति की शुक्रवार को आयोजित बैठक में जनप्रतिनिधियों ने ग्राम पंचायतों की चरागाह व विद्यालयों को आवंटित भूमि पर हो रहे अतिक्रमणों का मामला उठाया।

pankaj joshi

December, 0607:23 PM

नैनवां. पंचायत समिति की शुक्रवार को आयोजित बैठक में जनप्रतिनिधियों ने ग्राम पंचायतों की चरागाह व विद्यालयों को आवंटित भूमि पर हो रहे अतिक्रमणों का मामला उठाया। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत प्रस्तावित सडक़ों के अनुमोदन के लिए आयोजित साधारण सभा की बैठक दोपहर पौने दो बजे प्रधान प्रसन्न बाई मीणा की अध्यक्षता में शुरू हुई। बैठक शुरू होते ही पंचायत समिति सदस्यों व सरपंचों ने बैठकों का आयोजन समय पर नहीं कराने को लेकर रोष प्रकट किया। उसके बाद चरागाह व स्कूलों की भूमियों पर हो रहे अतिक्रमणों का मामला उठाया। सरपंच शांतिलाल मीणा, शिवप्रसाद विजय, मोजीराम गुर्जर, यशपाल मीणा, सुनीता नागर, छोटूलाल बैरवा, पंचायत समिति सदस्य कालूलाल मीणा, सुरेन्द्र गोयल, मुकेश नागर ने कहा कि चरागाह व विद्यालयों की भूमियों पर हो रहे अतिक्रमणों को हटाने के लिए प्रशासन को कई बार लिखा जा चुका है, लेकिन प्रशासन अतिक्रमण नहीं हटा पा रहा है। दोनों ही मामलों पर हंगामा होने लगा तो उपखंड अधिकारी कैलशचंद गुर्जर ने कहा कि सरपंच लिखकर दें। दस दिन में हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी। उसके बाद जनप्रतिनिधि शांत हुए। सरपंचों व पंचायत समिति सदस्यों ने सरकार की घोषणा के बाद भी गांवों में पूरी बिजली नहीं मिलने का मामला उठाया। इस पर जेवीएनएल के सहायक अभियंता श्रीमोहर मीणा ने कहा कि गांवों के विद्युत तंत्र को मजबूत करने का कार्य चल रहा है। कुछ 33 केवी ग्रिड स्टेशनों पर तो उच्च क्षमता के ट्रांसफार्मर लगा दिए है। बाकी पर अगले कुछ दिनों में लगा दिए जाएंगे। पंचायत समिति सदस्य सुरेन्द्र गोयल व सरपंच यशपाल मीणा सरपंच शिप्रसाद विजय, शांतिलाल मीणा, पंचायत समिति सदस्य मुकेश नागर ने भी कई मामले उठाए।

pankaj joshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned