scriptBundi News, Bundi Rajasthan News,place to place,broken roads,mud pile | Broken roads news : जगह-जगह टूटी सड़कें, कीचड़-गंदगी का अम्बार | Patrika News

Broken roads news : जगह-जगह टूटी सड़कें, कीचड़-गंदगी का अम्बार

क्षेत्र के इंद्रपुरिया राजकीय माध्यमिक विद्यालय के मुख्य रास्ते पर कीचड़ जमा होने से विद्यार्थियों को परेशानी उठानी पड़ रही है।

बूंदी

Published: January 10, 2022 07:56:19 pm

Broken roads news : जगह-जगह टूटी सड़कें, कीचड़-गंदगी का अम्बार
कीचड़ के रास्ते से निकल रहे विद्यार्थी
केशवरायपाटन. क्षेत्र के इंद्रपुरिया राजकीय माध्यमिक विद्यालय के मुख्य रास्ते पर कीचड़ जमा होने से विद्यार्थियों को परेशानी उठानी पड़ रही है।
ग्रामीणों ने बताया कि गांव की मुख्य सड़क से विद्यालय तक का रास्ता कच्चा होने से जरा सा पानी आने पर ही कीचड़ हो जाता है, जिससे अध्यापक और छात्र-छात्राओं को परेशानी उठानी पड़ रही है। इस बारे में ग्राम पंचायत चड़ी के सरपंच को भी अवगत करा दिया, लेकिन ध्यान नहीं दिया जा रहा।

Broken roads news : जगह-जगह टूटी सड़कें, कीचड़-गंदगी का अम्बार
Broken roads news : जगह-जगह टूटी सड़कें, कीचड़-गंदगी का अम्बार

देई. क्षेत्र के मुरडिया गांव में मुख्य मार्ग पर कीचड़ हो गया। ग्रामीणों ने सुधार की मांग की। ग्रामीणों ने बताया कि पैदल निकलना भी मुश्किल हो गया। सरकार के मंत्री सिर्फ घोषणाएं कर रहे धरातल पर कुछ नहीं हो रहा। ऐसे में शीघ्र समाधान हों।

झालीजी का बराना. क्षेत्र के कंवरपुरा राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के रास्ते में कीचड़ होने से विद्यार्थी परेशान हो गए। वार्ड पंच विमला बाई, भगवान पांचाल, दीनदयाल, छीतरलाल, शंकरलाल मालव ने बताया कि रास्ता कच्चा होने से बरसात आते ही कीचड़ हो गया। उन्होंने विकास अधिकारी को पत्र लिखकर सड़क निर्माण की मांग की।

सड़क का कार्य शुरू नहीं होने से ग्रामीणों में रोष
नोताड़ा. कस्बे से रघुनाथपुरा होते हुए बाझड़ली-धरावन कर सम्पर्क सडक़ को जोडऩे वाली सड़क क्षतिग्रस्त हो चुकी है। जगह जगह गहरे गड्ढे हो चुके हैं तो वहीं सड़क का डामर गायब हो चुका है। जिससे अब छोटी कारें लेकर सड़क से गुजरने में परेशानी आ रही है तो रात को गड्ढे दिखाई नहीं देने के कारण लोग गिरकर चोटिल हो रहे हैं। कई लोग कापरेन आने जाने के लिए देईखेड़ा होकर 10 किमी का अतिरिक्त चक्कर लगा रहे हैं।

दोनों गांवों के ग्रामीण सड़क के दोबारा निर्माण करवाने को लेकर लगातार डेढ़ वर्ष से मांग कर रहे हैं, लेकिन अब तक भी इसका कार्य शुरू नहीं होने से ग्रामीणों में रोष है। जबकी इसका टेण्डर भी जारी हो चुका है। सरपंच रामदेव पहाडिय़ा, भाजपा लाखेरी ग्रामीण मण्डल अध्यक्ष रामसिंह चौधरी, वार्डपंच ब्रह्मानन्द गुर्जर, नरेश सेन, योगेश मीणा आदि ने बताया कि सड़क का जनवरी माह में कार्य शुरू नहीं होने पर आंदोलन करेंगे। मामले को लेकर पीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता रामरतन नराणिया ने बताया कि वर्क आर्डर जारी कर रखा है। संवेदक को 6 महिने का समय दे रखा है।

एक दर्जन गांवों के लोगों का होता है आवागमन
इस सडक़ से रोजाना कापरेन, कोटा तक जाने के लिए लिए क्षेत्र के नोताड़ा, रघुनाथपुरा, मालिकपुरा, खेडीया दुर्जन, खेडीयामान, जालेड़ा, पचीपला, रैबारपुरा, डांगाहेड़ी, लक्ष्मीपुरा, ढगारिया, प्रतापगढ़ तक के करीब एक दर्जन गांवों के लोग नोताड़ा होकर इस रास्ते से बाझड़ली के पास कोटा दौसा मेगा पर निकलते हैं। इन गांवों के लोगों के लिए यह रास्ता सीधा पड़ता है। वहीं आसपास के कई लोगों ने कापरेन दुकानें लगा रखी है। उनका भी इस सड़क से रोजाना आना जाना होता है। जिन्हें रात के वक्त परेशानी आती है।

यह राह फिसलन भरी, सड़क पर कीचड़
नैनवां . उपखंड की सुवानिया ग्राम पंचायत के भावपुरा गांंव के अन्दर प्रवेश करने से पहले कीचड़ में होकर निकलना पड़ रहा है। एनएच 148 डी से भावपुरा तक डामर की सड़क बनी हुई है।
गांव से पहले आधा किलोमीटर पहले से ही सड़क पर पानी भरा होने से पक्की सड़क कीचड़ में तब्दील हो गई। भावपुरा निवासी नैनवां पंचायत समिति के सदस्य कोमल नागर ने बताया कि सड़क पर पानी भरे होने की परेशानी को दूर करने के लिए अतिक्रमण हटाकर नाले का निर्माण चालू कराने के लिए नैनवां पंचायत समिति की बैठक में भी उठाया था। बैठक में अधिकारियों ने अतिक्रमण हटवाकर कार्य शुरू करवाने की बात कही थी। उसके बाद भी कार्य को शुरू नहीं हो पाया। पांच दिन में कार्य शुरू नहीं हुआ तो ग्रामीणों के साथ उपखंड अधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करेंगे।
इधर, सार्वजनिक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता हेमराज चौधरी ने बताया कि सड़क पर पानी भरने की समस्या दूर करने के लिए नाले का निर्माण शुरू करवाया था। सड़क किनाने पर हो रहे अतिक्रमण के कारण निर्माण को रोकना पड़ा।

सड़कों पर फैली निर्माण सामग्री, हो रही दुर्घटनाएं
लाखेरी. शहर के वार्ड 32 स्थित बालाजी मंदिर परिसर व सामुदायिक भवन की मरम्मत के दौरान संवेदक की ओर से छोड़ी गई निर्माण सामग्री बस्तीवासियों के लिए दुर्घटना का सबब बन गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पालिका प्रशासन की ओर से दो माह पहले दोनों सामुदायिक भवन व मंदिर परिसर की दीवार की मरम्मत का कार्य करवाया था। संबंधित संवेदक ने निर्माण कार्य पूर्ण होने के एक माह बाद ही सामग्री को नहीं हटाया। इस सामग्री से यहां रोड पर आए दिन हादसे हो रहे, लेकिन कोई ध्यान नहीं दे रहे। कई बार बच्चे गिरकर चोटिल हो चुके। बीती रात शुक्रवार को राहगीर बुद्धिप्रकाश वर्मा पत्थरों पर गिरकर चोटिल हो गया। उसकी आंख के पास 3 टांके आये। इस संबंध में अधिशासी अधिकारी मुकेश नागर ने बताया कि मामले को दिखाकर कार्रवाई करेंगे।

कीचड़ ने बढ़ाई परेशानी
सुवासा. तालेड़ा उपखंड के जमीतपुरा माइनर से टिकरिया कला नदी पार बस्ती तक बारिश के चलते कीचड़ होने से ग्रामीण काफी परेशान है। बार-बार शिकायत के बावजूद प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं है।
रोड पर फैले कीचड़ से 3 दिन से राहगीरों व वाहन चालकों का आवागमन बंद है। ग्रामीण पृथ्वीराज जाट ने बताया 2018 में विधायक कोष से जमीतपुरा से टिकरिया कला गांव तक 5 किलोमीटर सड़क निर्माण के लिए 2 करोड़ 50 लाख रुपए स्वीकृत हुए थे। 2 साल से इस रोड पर ठेकेदार द्वारा धीमी गति से कार्य करने के चलते अब तक सड़क पर मिट्टी डल पाई है। जिसके चलते हल्की सी बारिश होते ही पूरा रोड पर कीचड़ हो जाता है। ग्रामीणों ने प्रशासन से रोड को शीघ्र बनाने की मांग की है। तालेड़ा पीडब्ल्यूडी एइएन सत्यनारायण मीणा ने बताया कि शीघ्र ही इस रोड पर डामरीकरण कर दिया जाएगा।

सड़क बनी दरिया, जिम्मेदार मौन
बड़ाखेड़ा . कस्बे के बस स्टैंड से रैबारपुरा बस्ती तक 1 किमी सड़क ने दरिया का रूप ले लिया। यहां पन्द्रह वर्ष पहले पत्थर का खरंजा बना था। अब इस खरंजे पर पानी भरा रहने लग गया।

कस्बेवासी बीएल मल्होत्रा, अर्जुन रैबारी, वार्ड पंच विष्णु महावर, गोलू, रघुवीर गोचर ने बताया की कस्बे से होकर बसवाड़ा ग्राम पंचायत तक जा रहे इस रास्ते ने पानी भरा रहने से दरिया का रूप ले लिया। यहां सड़क किनारे बनी नालियां पूरी तरह से नष्ट हो गई। खरंजे पर कीचड़ जमा रहने लग गया। खरंजे के कई पत्थर निकलने से गड्ढे हो गए। कस्बेवासियों ने बताया की अभी पापड़ी से बसवाड़ा तक निर्माण कार्य चल रहा है, जिसमें इस सीसी सड़क का निर्माण होना था, लेकिन अभी तक काम शुरू नहीं हुआ।

एक किमी पत्थर का खरंजे बना हुआ है, जिस पर 4 इंच सीसी करवाने की बात थी, जो मुश्किल है। खरंजे के दोनों तरफ की नालियों को अतिक्रमण से मुक्त करवाकर मरम्मत की जाएगी।
एस. के. सिंघल, अधिशासी अभियंता, सा. निर्माण विभाग, लाखेरी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Punjab Election 2022: गठबंधन के तहत BJP 65 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, जानिए कैप्टन की PLC और ढींढसा को क्या मिलाराष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमकोरोना से ठीक होने के बाद ऐसे रखें अपने सेहत है ख्यालUP election 2022 - सपा ने जारी की विधानसभा प्रत्याशियों की सूचीएनएफएसयू का साइबर डिफेंस सेंटर अब आईएसओ-आईसी प्रमाणित, बनी देश की पहली लैब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.