दर्द से कराहती रही प्रसूता, नहीं पहुंची एम्बुलेंस

क्षेत्र में बांसी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की एम्बुलेंस को कॉल करने के बाद भी प्रसुता को लेने नहीं पहुंची। बाद में बाट जोह कर परेशान परिजनों ने किराए से निजी वाहन की व्यवस्था करके प्रसुता को पीएचसी पर लाया गया।

By: pankaj joshi

Published: 21 Jul 2021, 09:30 PM IST

दर्द से कराहती रही प्रसूता, नहीं पहुंची एम्बुलेंस
भण्डेड़ा. क्षेत्र में बांसी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की एम्बुलेंस को कॉल करने के बाद भी प्रसुता को लेने नहीं पहुंची। बाद में बाट जोह कर परेशान परिजनों ने किराए से निजी वाहन की व्यवस्था करके प्रसुता को पीएचसी पर लाया गया। तब तक प्रसुता दर्द से कराहती रही है। केंद्र पर पहुंचने के आधे घंटे बाद ही प्रसव हो गया। यहां पर रात में बिजली नहीं होने से केंद्र पर भर्ती नवजात शिशु व उनकी माताएं भी परेशान होती रही। जानकारी के अनुसार माधोराजपुरा निवासी कमलकुमार गुर्जर का कहना है कि रात के समय महिला के प्रसव पीड़ा शुरू होने पर जननी सुरक्षा की एम्बुलेंस को फोन किया तो नाम पता जानकर चालक ने रास्ता ग्रेवल की सडक़ से होकर आने से मना कर दिया।
एक घंटे तक प्रसुता को केंद्र तक पहुंचने के लिए वाहन की व्यवस्था नहीं होने से प्रसुता दर्द से कहराती रही व एम्बुलेंस नहीं आते देख परिजनों ने बांसी फोन करके किराए से निजी साधन मंगवाया। तब जाकर प्रसुता केंद्र पर पहुंची। यहां भी बिजली नहीं थी तो प्रसुता व तीमारदार परेशान होते रहे। देर रात्रि तीन बजे बिजली आई तब जाकर जननी व नवजात शिशु व तीमारदारों ने राहत मिली।
इनका कहना है
इधर, चिकित्सा प्रभारी का कहना है कि एम्बुलेंस की समस्या के लिए संबंधित विभाग जिम्मेदार है, यह हमारे अधीन नहीं है। पीएचसी पर बिजली के दोनों फेज उतर रहे हैं। जिससे इन्वर्टर 20 दिन में पांच बार खराब हो चुका है। अब इन्वर्टर को ठीक करने के लिए मैकेनिक ने भी मना कर दिया। इस समस्या से निगम के कनिष्ठ अभियंता को भी अवगत करवाया जा चुके हैं, लेकिन समाधान नहीं होने से ऐसी समस्या होती है।
कौशल गोयल, चिकित्सा प्रभारी, बांसी पीएचसी

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned