चरागाह से हटाओ अतिक्रमण, खनन कर बना दी बड़ी बड़ी तलाइयां

कस्बे में स्थित 1600 बीघा चरागाह भूमि पर आधे से ज्यादा अतिक्रमण होने से स्थानीय पशुपालकों व लोगों ने प्रशासन से अतिक्रमण हटाने की मांग की है।

By: pankaj joshi

Published: 19 Apr 2021, 09:20 PM IST

चरागाह से हटाओ अतिक्रमण, खनन कर बना दी बड़ी बड़ी तलाइयां
देई. कस्बे में स्थित 1600 बीघा चरागाह भूमि पर आधे से ज्यादा अतिक्रमण होने से स्थानीय पशुपालकों व लोगों ने प्रशासन से अतिक्रमण हटाने की मांग की है। कस्बे के पशुपालकों ने बताया कि चरागाह भूमि पर अतिक्रमण होने से पशुओं को चराने के लिए परेशान होना पड़ रहा है। गोवंश को भी कस्बों के बाजारों में खाने के लिए इधर उधर भटकना पड़ रहा है।
जानकारी के अनुसार कस्बे में आधी चरागाह भूमि पर कब्जा है। राजस्व विभाग के अनुसार चार अलग अलग स्थानों पर कुल 1600 बीघा 1 बिस्वा चरागाह भूमि है। जिस पर करीब 800 बीघा भूमि पर अतिक्रमण है। यही नहीं अतिक्रमण के बाद जो चरागाह भूमि बची है। उस पर भी लोगों ने खनन कर बड़ी बड़ी तलाइयां बना दी है। जिससे पशुओं के लिए चराने की जगह ही नहीं बची है। इस समस्या के चलते कहीं पशुपालकों ने चराने का स्थान नहीं रहने से पशुओं को बेच दिया है। बांसी रोड स्थित चरागाह भूमि पर अतिक्रमियों ने सिर्फ निकलने के रास्ते की जगह छोड़ी बाकी पर खेती करना शुरू कर दिया। यहां पर पहले ही खननकर्ताओं ने बड़ी बड़ी खाइयां खोद रखी है। ऐसे में चरागाह का यहां पर अस्तित्व समाप्त होने के कगार पर है।
केशवनगर के पास स्थित चरागाह, बूंदी रोड स्थित चरागाह पर खननकर्ताओं ने खनन कर चरागाह जमीन का स्वरूप बिगाड़ दिया है। ऐसे में पशुओं के लिए चरने का स्थान नहीं बचा है। अगर शीघ्र ही चरागाह भूमि से अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो शेष चरागाह भूमि का अस्तित्व भी समाप्त हो जाएगा। इस बारे में देई नायब तहसीलदार कैलाशचंद मीना ने बताया कि मामले की जानकारी कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned