रेसला ने किया प्रदर्शन, मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

प्रधानाचार्य पदोन्नति में अनुपात परिवर्तन को लेकर राजस्थान शिक्षा सेवा प्राध्यापक संघ (रेसला) ने बुधवार को यहां जिला कलक्ट्रेट में विरोध प्रदर्शन किया।

By: Narendra Agarwal

Published: 04 Mar 2021, 06:05 PM IST

बूंदी. प्रधानाचार्य पदोन्नति में अनुपात परिवर्तन को लेकर राजस्थान शिक्षा सेवा प्राध्यापक संघ (रेसला) ने बुधवार को यहां जिला कलक्ट्रेट में विरोध प्रदर्शन किया। बाद में अपनी मांगों का मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। जिलाध्यक्ष नंदसिंह सोलंकी ने बताया कि वर्तमान में व्याख्याता व प्रधानाध्यापक दोनों का प्रधानाचार्य पदोन्नति में अनुपात 67-33 है। जबकि व्याख्याताओं की संख्या 54 हजार व प्रधानाध्यापकों की संख्या मात्र 35 सौ है।
इस प्रकार यह अनुपात न्याय संगत नहीं है तथा इस अनुपात को 80-20 किए जाने की जो फाइल केबिनेट स्तर पर लंबित है, उसे तुरंत प्रभाव से पारित किया जाए। जिला मंत्री नवनीत जैन व जिला संघर्ष समिति संयोजक भूपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि 5 मार्च को जयपुर में धरना प्रदर्शन को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली। रेसला के कौशल जैन, हरिराम मीणा, सुरभि शर्मा, अनीता शर्मा, मुकेश जेकवाल, राकेश कुमार शर्मा, धनराज मीणा, राजेंद्र कुमार माथुर,राजेंद्र सिंह हाडा सहित बड़ी संख्या में व्याख्याता मौजूद थे।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned