सैकण्डरी विद्यालय की क्रमोन्नति को लेकर विधायक से लगाई गुहार

नोताडा. क्षेत्र के रेबारपुरा गांव में पंचायत मुख्यालय होने के बाद भी यहां पर सीनियर विद्यालय नहीं होने के कारण यहां के बच्चों को दसवीं पास करने के बाद आगे की पढ़ाई करने के लिए लाखेरी या कापरेन जाकर करनी पड़ रही है।

By: pankaj joshi

Published: 27 Nov 2019, 05:57 PM IST

नोताडा. क्षेत्र के रेबारपुरा गांव में पंचायत मुख्यालय होने के बाद भी यहां पर सीनियर विद्यालय नहीं होने के कारण यहां के बच्चों को दसवीं पास करने के बाद आगे की पढ़ाई करने के लिए लाखेरी या कापरेन जाकर करनी पड़ रही है। भाजपा एससी मोर्चा जिला उपाध्यक्ष गोबरीलाल बैरवा व सरपंच वेदवती वर्मा ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार प्रत्येक पंचायत मुख्यालयों पर सीनियर विद्यालय होना था। लेकिन आजादी के इतने वर्ष बाद भी रैबारपुरा में अभी तक सीनियर विद्यालय नहीं होने से यहां के बच्चों को पन्द्रह बीस किलोमीटर दूर जाना पडता है। उन्होंने बताया कि यहां की बालिकाओं को दसवीं पास करने के बाद पढाई छोडने को मजबूर होना पड़ रहा है। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री को भी लिखित में पत्र सौंपा था। लेकिन यह विद्यालय अभी तक भी सीनियर होने से वंचित है। भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ के दुलीचन्द रैबारी व ग्रामीणों ने बताया कि विद्यालय में 205 बच्चे अध्ययनरत है, यहां पर रेबारपुरा, पापडली, कोथा, पचीपला, लक्ष्मीपुरा, छप्पनपुरा व ढांगाहेडी गांव पांच किलोमीटर के दायरे में आ रहे है। सभी गांवों के बच्चे यहां अध्ययन करने को आते है। ग्रामीण ने विद्यालय को सीनियर करवाने की मांग को लेकर क्षेत्रीय विधायक को भी पत्र लिखा है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned