scriptBundi News, Bundi Rajasthan News,the land is,But no budget,it's here,v | veterinary hospital : भूमि है लेकिन बजट नहीं, यह है यहां के पशु चिकित्सालय की स्थिति | Patrika News

veterinary hospital : भूमि है लेकिन बजट नहीं, यह है यहां के पशु चिकित्सालय की स्थिति

देईखेड़ा में स्थित पशु चिकित्सालय में लगातार पांच माह से पशु चिकित्सक का पद खाली चल रहा है, लेकिन अब तक भी यहां पर चिकित्सक नहीं लगाया गया है।

बूंदी

Published: January 11, 2022 05:53:08 pm

veterinary hospital : भूमि है लेकिन बजट नहीं, यह है यहां के पशु चिकित्सालय की स्थिति
बजट के अभाव में भवन का भी नहीं हो रहा निर्माण
नोताड़ा. देईखेड़ा में स्थित पशु चिकित्सालय में लगातार पांच माह से पशु चिकित्सक का पद खाली चल रहा है, लेकिन अब तक भी यहां पर चिकित्सक नहीं लगाया गया है। जानकारी के अनुसार यहां पर पशु चिकित्सक का 12 अगस्त को अन्य जगह पर तबादला होने के बाद से ही खाली पड़े चिकित्सक के पद पर किसी कर्मचारी को नहीं लगाया गया। जिससे सप्ताह में तीन-तीन दिन दो पशुधन सहायकों को ड्यूटी देनी पड़ रही है।

veterinary hospital : भूमि है लेकिन बजट नहीं, यह है यहां के पशु चिकित्सालय की स्थिति
veterinary hospital : भूमि है लेकिन बजट नहीं, यह है यहां के पशु चिकित्सालय की स्थिति

यह भी पढ़े...State Commission for Protection of Child Rights : राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष पहुंची बूंदी कही यह बड़ी बात : https://bit.ly/3nfebmk

नोताड़ा के पशुधन सहायक गोविंद सैनी पशु उपकेंद्र को छोडकऱ सप्ताह के प्रथम तीन दिन देईखेड़ा पशु चिकित्सालय में ड्यूटी दे रहे हैं। जिससे क्षेत्र के पशुपालकों को परेशानी उठानी पड़ती है। वहीं तीन दिन तक केन्द्र बंद रहता है। गुरुवार से शनिवार तक लाखेरी पशु चिकित्सालय के पशुधन सहायक नवल किशोर गुर्जर आते हैं। देईखेड़ा व्यापार मंडल अध्यक्ष दिनेश व्यास ने बताया कि यहां पर पशु चिकित्सालय होने के बाद भी पांच महिने से पद खाली चल रहा है। वर्तमान में जानवरों में खुरपका, मुंहपका के रोग चल रहे हैं। पशु चिकित्सक नहीं होने से जानवरों को टीके भी नहीं लग पा रहे हैं।

यह भी पढ़े...Clinic : टीम के आने की भनक क्या लगी क्लीनिक को छोड़ भागा संचालक : https://www.patrika.com/bundi-news/bundi-news-bundi-rajasthan-news-clinic-left-run-operator-c-s-7270102/

उधर व्यवस्था पर लगा रखे पशु चिकित्सक गोविंद सैनी ने बताया कि तीन जनवरी से ही पशुओं को मौसमी बीमारियों से बचाने के लिए टीकाकरण का कार्य शुरू कर रखा है। साथ ही पशुओं की टेगिंग भी की जा रही है।

यह भी पढ़े...Covid assistant : कोविड सहायकों का फूटा रोष, काली पट्टी बांधकर किया काम https://www.patrika.com/bundi-news/bundi-news-bundi-rajasthan-news-covid-assistant-work-boycott-commu-7270139/

भूमि का आवंटन लेकिन बजट नहीं
वहीं व्यास ने बताया कि कस्बे में पशु चिकित्सालय केंद्र खुला था, तब से ही अस्थाई व्यवस्था कर प्राथमिक विद्यालय के पुराने भवन में संचालित किया गया था। जिसके बाद अन्य जगह पर भवन का निर्माण करवाने के लिए भूमि का भी आवंटन हो चुका हैं लेकिन बजट आवंटित नहीं होने से भवन निर्माण नहीं हो पा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.