टूटा तार जोडऩे में लग गए 3 दिन, डेढ़ दर्जन गांवों के ग्रामीण रहे अंधेरे में

हिण्डोली. कस्बे में 3 दिन से टूटा हाईटेंशन लाइन का तार नहीं जोडऩे से कई गांवों के लोगों को बिजली नहीं मिल रही थी।

By: pankaj joshi

Published: 21 Sep 2020, 07:07 PM IST

टूटा तार जोडऩे में लग गए 3 दिन, डेढ़ दर्जन गांवों के ग्रामीण रहे अंधेरे में
महिलाओं ने नहीं जोडऩे दिया था टूटा तार
हिण्डोली. कस्बे में 3 दिन से टूटा हाईटेंशन लाइन का तार नहीं जोडऩे से कई गांवों के लोगों को बिजली नहीं मिल रही थी। रविवार को लोगों ने दिनभर विद्युत निगम कार्यालय के बाहर आकर हंगामा मचाया। जानकारी के अनुसार शुक्रवार को पावर हाउस के पास हिण्डोली से पेच की बावड़ी जाने वाली मुख्य हाईटेंशन लाइन का तार टूट कर घरों पर गिर गया था। शाम को तार जोड़ दिया, लेकिन फिर टूट गया । इससे एक महिला का हाथ जल गया था। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने विद्युत निगम के कर्मचारियों को टूटे बिजली के तार नहीं जोडऩे दिए। शनिवार को भी निगम के अधिकारी कर्मचारी तार जोडऩे पहुंचे तो महिलाओं ने विरोध कर भगा दिया। 3 दिन से क्षेत्र के डेढ दर्जन से अधिक गांवों के लोगों को बिजली नहीं मिलने से गुस्साए ग्रामीण हिण्डोली जीएसएस पर पहुंचे। वहां जमकर हंगामा मचाया।
कांग्रेस कार्यकर्ता आए सामने, दिलाया
दिलाया भरोसा
हिण्डोली. बिगड़ते माहौल को संभालने के लिए पूर्व सरपंच हनुमान व्यास,राजेश गुर्जर के साथ निगम के सहायक अभियंता राजेंद्र सिंह, कनिष्ठ अभियंता विजेंद्र पहाडिय़ा अन्य लोग मौके पर पहुंचे। यहां पर महिलाओं ने काफी विरोध किया। बाद में पूर्व सरपंच ने उन्हें भरोसा दिलाया कि डेढ़ माह के भीतर हाईटेंशन लाइन अन्यत्र शिफ्ट कर दी जाएगी। इसके लिए राज्य मंत्री से यहां पर हाईटेंशन लाइन अन्यत्र लगाने पर भी चर्चा हुई हैं। जिस पर महिलाएं मान गईं। उधर, विद्युत निगम के कनिष्ठ अभियंता विजेंद्र पहाडिय़ा ने बताया कि हाईटेंशन लाइन को अन्यत्र शिफ्ट करने के 25 लाख का तकमीना तैयार कर दिया है। यह राशि जमा होने पर हाईटेंशन लाइन अन्यत्र शिफ्ट करवा दी जाएगी। शाम को तार जोडऩे से 3 दिन से बंद पड़ी गांवों की लाइटें भी सुचारू हो गई है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned