पैदल चल रहे श्रमिकों के लिए खुलेंगे राहत शिविर

राष्ट्रीय राजमार्ग व अन्य सडक़ों पर बड़ी संख्या में भूखे प्यासे पैदल चल रहे श्रमिक परिवारों को अब राहत मिलेगी।

By: pankaj joshi

Published: 10 May 2020, 09:42 PM IST

पैदल चल रहे श्रमिकों के लिए खुलेंगे राहत शिविर
-भोजन-आवास की होगी व्यवस्था
बूंदी. राष्ट्रीय राजमार्ग व अन्य सडक़ों पर बड़ी संख्या में भूखे प्यासे पैदल चल रहे श्रमिक परिवारों को अब राहत मिलेगी।
जिला कांग्रेस कमेटी प्रवासी सहायता केंद्र के प्रभारी चर्मेश शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार ने सभी जिला कलक्टर को राजमार्ग और अन्य सडक़ों पर पैदल चल रहे श्रमिक परिवारों को राहत देने के लिए शिविर लगाने के निर्देश दे दिए। इन शिविरों में भोजन व छाया की व्यवस्था की जाएगी। शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि लॉकडाउन के कारण फंसा हुआ कोई श्रमिक अपने गृह स्थान के लिए पैदल रवाना नहीं हो। राज्य सरकार उन्हें बसों एवं ट्रेनों के माध्यम से अपने-अपने गृह स्थानों पर पहुंचाने के लिए उचित व्यवस्था कर रही है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो श्रमिक पैदल रवाना हो गए हैं, उनके लिए रास्ते में कैम्प एवं भोजन सहित अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।
जयपुर से कटनी के लिए छोटे बच्चों व महिलाओं के साथ एक हजार किलोमीटर के सफर पर पैदल निकले बूंदी में रोके गए श्रमिक परिवार और पंजाब के लिए साइकिल से जाने की अनुमति मांगने वाले गेहूं कटाई श्रमिकों का मामला रविवार को मुख्यमंत्री कार्यालय पहुंचा।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned