जलापूर्ति व विद्युत आपूर्ति व्यवस्था बिगड़ी तो टंकी पर चढ़े भाजपाई, मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन किया

नैनवां कस्बे में एक पखवाड़े से बिगड़ रही जलापूर्ति व विद्युत आपूर्ति अव्यवस्था से आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने रविवार को जलदाय विभाग कार्यालय में चार घंटे तक हंगामा मचाए रखा।

By: Narendra Agarwal

Published: 06 Jul 2020, 12:06 PM IST

नैनवां. नैनवां कस्बे में एक पखवाड़े से बिगड़ रही जलापूर्ति व विद्युत आपूर्ति अव्यवस्था से आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने रविवार को जलदाय विभाग कार्यालय में चार घंटे तक हंगामा मचाए रखा। क्षेत्रीय विधायक व खेल राज्य मंत्री अशोक चांदना के खिलाफ नारेबाजी की व दोनों ही विभागों के अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग को लेकर प्रदर्शन केे बाद भाजपा के शहर अध्यक्ष सहित तीन पदाधिकारी कार्यालय में स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गए। अन्य कार्यकर्ता कार्यालय में धरना देकर बैठ गए। भाजपा कार्यकर्ताओं के जलदाय विभाग कार्यालय में हंगामा करने व टंकी पर चढ़ जाने की सूचना पर तहसीलदार रघुवीर मीणा, पुलिस उपाधीक्षक कैलाशचंद जाट, एएसआई खेमराज मीणा पुलिस जाप्ता लेकर मौके पर पहुंचे। उच्चाधिकारियों को स्थिति से अवगत करवा कर दोनों विभाग के अधिकारियों को भिजवाने को कहा। हंगामे के बाद खेल राज्यमंत्री के निर्देश पर जलापूर्ति में सुधार के लिए जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता ने लाखेरी के अधिशासी अभियंता राजेन्द्र भार्गव को सात दिन के लिए नैनवां लगाने के आदेश जारी किए है।
एक पखवाड़े से बिगड़ रही व्यवस्था
कस्बे में एक पखवाड़े से बिगड़ रही जलापूर्ति व विद्युत आपूर्ति में सुधार की मांग को लेकर तीन दर्जन भाजपा कार्यकर्ता जलदाय विभाग कार्यालय पर पहुंचे। कार्यालय में कोई अधिकारी नहीं मिला तो प्रदर्शन करनेे के बाद धरना देकर बैठ गए। एक घंटेे तक कोई भी अधिकारी नहीं आया तो अधिकारियों को बुलाने की मांग को लेकर भाजपा केे शहर अध्यक्ष राजेन्द्रसिंह सोलंकी, भाजयुमो के शहर महामंत्री दीपक चौपड़ा व कमलकुमार सैनी कार्यालय मेंं स्थित टंकी पर चढ़ गए तो अन्य कार्यकर्ताओं ने जलदाय विभाग कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते हुए खेल राज्यमंत्री का पुतला जलाया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने टंकी पर चढ़े भाजपा पदाधिकारियों को टंकी से उतरने के लिए समझाया तो अधिकारियों से कहा कि जब तक दोनों विभागों के अधिकारी यहां आकर व्यवस्था में सुधार करने का आश्वासन नहीं दे देते, तब तक नीचे नहीं उतरेंगे। दोनों विभाग के अधिकारियों के आने तक पुलिस व प्रशासनिक अधिकरी टंकी के नीचे बैठे रहे।

ये रहे शामिल
पूर्व पालिकाध्यक्ष प्रमोद जैन, गोपीलाल सैनी, भंवरसिंह सोलंकी, पुखराज ओसवाल, पार्षद रजनीश शर्मा, रमेश चौधरी, सत्यनारायण सैनी, मोहनसिंह मीणा, महावीर सिंधव, पूर्व पार्षद मोजीराम गुर्जर, रमजानी पठान, भाजपा के पूर्व शहर अध्यक्ष केसरलाल नोगिया, अनिल रंगीला, सूरज गुर्जर, मोनू सैनी, बबलू शर्मा, विनोद साहू, कृष्णमुरारी, बंटी बरमुंडा, राजेन्द्रसिंह नरूका, छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष प्रमोद सैनी सहित तीन दर्जन लोग धरने व प्रदर्शन में शामिल थे।

लिखित आश्वासन के बाद टंकी से उतरे
जलदाय विभाग के अधिशसी अभियंता राजेन्द्र भार्गव व केशवरायपाटन के सहायक अभियंता सुरेन्द्र बैरवा ढाई बजे मौके पर पहुंचे। पुलिस उपाधीक्षक व तहसीलदार ने दोनों अधिकारियों की धरने पर भाजपा कार्यकर्ताओं से बात कराई। कार्यकर्ताओं ने जलापूर्ति बिगडऩे के कारण जानना चाहा तो दोनों ही अधिकारी संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए तो विभाग के बिगड़े हुए प्रबंधन को लेकर अधिकारियों को खरी-खोटी भी सुनाई। बाद में अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता व तहसीलदार ने दो दिन में जलापूर्ति में सुधार करा देने का लिखित आश्वासन दिया। उसके बाद तीन बजे तीनों पदाधिकारी टंकी सें उतरे और भाजपा कार्यकर्ताओं ने धरना समाप्त किया।

खेल राज्यमंत्री का कहना
क्षेत्रीय विधायक व खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना ने जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता आरसी मीणा से बात की। चांदना ने बताया कि कस्बे की जलापूर्ति व्यवस्था में सुधार करने के लिए अधीक्षण अभियंता ने लाखेरी के अधिशासी अभियंता राजेन्द्र भार्गव का मुख्यालय सात दिन के लिए नैनवां कर दिया। जब तक जलापूर्ति में सुधार नहीं हो जाता अधिशासी अभियंता का मुख्यालय नैनवां ही रहेगा।


अधिशासी अभियंता का कहना
विभाग के अधिशासी अभियंता राजेन्द्र भार्गव ने कहा कि तीन दिन से बिजली पर्याप्त नहीं मिलने से जलापूर्ति व्यवस्था बिगड़ गई थी। दो दिन में जलापूर्ति के बिगड़े हुए तंत्र में सुधार करके जलापूर्ति में सुधार करवा दिया जाएगा।

BJP
Show More
Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned