जहां नजर पड़ी, वहीं कर रहे खनन

हिण्डोली क्षेत्र के ग्राम सथूर व आस-पास के क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन से ग्रामीणों में रोष है। जानकारी के अनुसार सथूर ग्राम पंचायत के सथूर, हरिपुरा, नटावा, वैद्यनाथ महादेव के पास सहित अन्य स्थानों पर बड़ी मात्रा में खनन का कार्य जोरों पर है।

By: pankaj joshi

Published: 15 Jun 2021, 09:40 PM IST

जहां नजर पड़ी, वहीं कर रहे खनन
सथूर के निकट अरावली पर्वतमालाओं को कर दिया खोखला
हिण्डोली. हिण्डोली क्षेत्र के ग्राम सथूर व आस-पास के क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन से ग्रामीणों में रोष है। जानकारी के अनुसार सथूर ग्राम पंचायत के सथूर, हरिपुरा, नटावा, वैद्यनाथ महादेव के पास सहित अन्य स्थानों पर बड़ी मात्रा में खनन का कार्य जोरों पर है।
यहां पर खनन करने वालों ने अरावली पर्वत के सीने को चीर कर 30-40 फीट गहरे गड्ढे कर दिए हैं। उनमें प्रतिदिन दर्जनों संख्या में वाहनों में पत्थर भरकर कोटा व अन्य स्थानों पर भिजवाए जा रहे हैं। लोगों का कहना है कि खाली जमीन व पहाडिय़ों पर धड़ल्ले से खनन किया जा रहा है।
कई बार राजस्व व खनिज विभाग, राज्य सरकार से खनन मामले की जांच कर दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की।
धमाकों से दशहत, वन्यजीव हुए गायब
सथूर, तालाब गांव के लोगों ने बताया कि शाम के समय पहाडिय़ों पर पत्थर तोडऩे के लिए शक्तिशाली विस्फोट किया जाता है। जिससे आसपास के क्षेत्र के घरों में कंपन होने लगता है।लोग दहशत में आ जाते है। नटावा व सथूर के लोगों न बताया कि शाम के समय तो यह आलम होता है कि जब एक साथ धमाके होते हैं तो घरों में रखे बर्तन भी हिलने लगते हैं। मकान कंपन करने लगते हैं। वन्यजीव डर के मारे आसपास का क्षेत्र छोड़ कर चले गए हैं।
नहीं है खनन क्षेत्र का परिसीमन
जानकार सूत्रों की माने तो जहां पर भी लीज होल्डर होते हैं। वहां पर खनि विभाग पिलर लगाकर परिसीमन करता है। साथ में विस्फोट करने का समय भी बोर्ड लिखा जाता है, लेकिन यहां पर किसी प्रकार का न तो परिसीमन है नहीं कोई बोर्ड लगा हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि खनन करने वाले लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए, अन्यथा ग्रामीणों को सडक़ पर आना पड़ेगा।
शाम के समय खनन क्षेत्र में होने वाले धमाके की गूंज जेल तक भी आती है। इससे कर्मचारी व बंदी सकते में आ जाते हैं। यह सिलसिला काफी समय से जारी है।
लोकोज्जवल सिंह, उपाधीक्षक बूंदी जिला कारागृह
गत वर्ष ग्राम पंचायत द्वारा कई बार खननकर्ताओं की भूमि की परिसीमन की मांग को लेकर तहसीलदार से लेकर खनि अभियंता व राज्य सरकार को पत्र भिजवाए हैं। अवैध खनन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की ह, लेकिन अभी तक सुनवाई नहीं हुई। गांव में हो रहे विस्फोट से लोग दहशत में है। सारी भूमि खोखली कर दी है।
सोनिया सैनी, सरपंच ग्राम पंचायत सथूर।
खनन करने वालों की नजर जहां पर पड़ी, वहीं पर खनन कर लेते हैं। तेज धमाकों से होने वाली विस्फोटक से वन्यजीव व लोग डरे हुए हैं। किस समय धमाका होगा, लोगों को पता नहीं रहता। जब धमाका होता है तो बच्चों में भी काफी भय बना रहता है।
ईश्वर कुशवाहा, युवा नेता नटावा।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned