पानी पीने के दौरान फिसला पैर, नदी की गहराई में समा गया वृद्ध

लाखेरी. थाना क्षेत्र के बुढ़ेल में मंगलवार को पैर फिसलने से एक नि:शक्त वृद्ध नदी में डूब गया, जिसका शाम तक पता नहीं चला।

By: pankaj joshi

Published: 18 Feb 2020, 09:32 PM IST

पानी पीने के दौरान फिसला पैर, नदी की गहराई में समा गया वृद्ध
लाखेरी. थाना क्षेत्र के बुढ़ेल में मंगलवार को पैर फिसलने से एक नि:शक्त वृद्ध नदी में डूब गया, जिसका शाम तक पता नहीं चला। तलाशी के लिए बूंदी से रेस्क्यू टीम भी पहुंची, लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि बारां के सुभद्रा कॉलोनी निवासी 62 वर्षीय नत्थु सहरिया बुढ़ेल के समीप मेज नदी में पानी पीने गया था। उसके साथ दो रिश्तेदार 4-5 साल के बालक भी थे। नदी में पानी पीने के दौरान पैर फिसलने से वह नदी की गहराई में समा गया। तब दोनों बालकों ने इसकी सूचना ग्रामीणों और परिजनों को दी। सभी बुजुर्ग को ढूंढने नदी पर पहुंचे, लेकिन कहीं पता नहीं चला। सूचना पर सहायक उपनिरीक्षक छोटूलाल, नायब तहसीलदार राजेंद्र कुमार भी पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद भी कुछ पता नहीं चला। शाम को बूंदी से रेस्क्यू टीम पहुंची।अंधेरा होने से अब बुधवार को फिर से तलाश शुरू करेंगे। गौरतलब है कि बारां जिले के 20-25 सहरिया परिवार बुढ़ेल नदी के किनारे डेरा डाले हुए हैं और यहां अंग्रेजी बबूल से कोयला बना रहे हैं।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned