लोकसभा अध्यक्ष बिरला के प्रयासों से श्रीपुरा और बाजड़ली गांव में होंगे कार्य

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के प्रयासों से जिले के श्रीपुरा और बाजड़ली तथा आस-पास के क्षेत्र के गांवों के सैकड़ों ग्रामीणों को बड़ी राहत मिली है। आवागमन में आ रही समस्याओं को देखते हुए रेलवे अब इन गांवों के निकट करीब 3.50 करोड़ की लागत से नहर किनारे सड़क बनाएगी।

By: pankaj joshi

Published: 06 Oct 2021, 06:42 PM IST

लोकसभा अध्यक्ष बिरला के प्रयासों से श्रीपुरा और बाजड़ली गांव में होंगे कार्य
बूंदी. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के प्रयासों से जिले के श्रीपुरा और बाजड़ली तथा आस-पास के क्षेत्र के गांवों के सैकड़ों ग्रामीणों को बड़ी राहत मिली है। आवागमन में आ रही समस्याओं को देखते हुए रेलवे अब इन गांवों के निकट करीब 3.50 करोड़ की लागत से नहर किनारे सड़क बनाएगी।
कोटा-दिल्ली रेलमार्ग पर अरनेठा और कापरेन के बीच स्थित श्रीपुरा गांव के निकट बने समपार फाटक संख्या 122 को रेलवे ने पिछले दिनों बंद कर दिया। इसके बाद ग्रामीणों के पास अरनेठा या कापरेन के रास्ते ही मेगा हाइवे पर आने का विकल्प शेष रह गया। दोनों ही तरफ सड़क की स्थिति खराब होने के कारण लोगों को काफी परेशानी आ रही थी। मार्ग संकरा होने के कारण थ्रेशर भी श्रीपुरा तथा आस-पास के गांवों में नहीं पहुंच पा रहे थे। इसी तरह बाजड़ली गांवा में भी बनाए गए अंडर पास में सीवरेज की समस्या बनी हुई थी।
अंडरपास में पानी भरने के कारण वाहनों का आवागमन बंद हो गया था। इससे क्षेत्र के लोगों में नाराजगी थी। पिछले दिनों अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान का निरीक्षण करने जब लोकसभा अध्यक्ष बिरला पहुंचे तो ग्रामीणों ने उन्हें अपनी समस्याओं की जानकारी दी थी।
बिरला की सख्ती के बाद ऐसे निकली राह
लोगों की समस्याएं सुनने के बाद बिरला ने मौके से ही पश्चिम-मध्य रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को फोन कर आमजन के आवागमन में आ रही कठिनाई को दूर करने के लिए सख्ती से कहा था। इसके बाद से ही रेलवे के अधिकारियों ने दोनों ही स्थानों पर आवागमन को सुगम बनाने के लिए कार्ययोजना तैयार की। इसके अनुसार श्रीपुरा गांव के निकट से गुजर रही नहर के पास समपार फाटक संख्या 120 से लेकर समपार फाटक संख्या 123 तक करीब साढ़े ढाई करोड़ की लागत से करीब साढ़े तीन किमी लंबी सड़क बनाई जाएगी। इसके अलावा 2024 से पहले दोनों समपार फाटकों पर आरओबी का निर्माण होगा, जिससे यह गांव और आसपास का क्षेत्र को मुख्य मार्ग से सीधा जुड़ाव मिल जाएगा। इसी तरह बाजड़ली गांव के निकट नहर के किनारे एक करोड़ की लागत से 650 मीटर पक्की सड़क बनाई जाएगी, जिससे यह गांव अरडाना-चरडाना फाटक से सालभर जुड़ा रहेगा। अंडरपास में सीपेज की समस्या को दूर करने के लिए भी वहां वॉटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर का निर्माण किया जाएगा।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned